Assembly Banner 2021

आरसीपी सिंह के चुनावी बयान से मची खलबली, बोले- JDU जीत सकती है 243 सीट

आरसीपी सिंह ने कहा कि हमारा संगठन बूथ तक स्थापित हो चुका है.

आरसीपी सिंह ने कहा कि हमारा संगठन बूथ तक स्थापित हो चुका है.

JDU अध्यक्ष आरसीपी सिंह के एक चुनावी बयान से बिहार की सियासत गरमा गई है. उन्होंने अपने बयान में जेडीयू पदाधिकारियों से कहा कि अगर ठान लें तो हम 243 सीटें जीत सकते हैं. बिहार में अभी चुनाव परिणाम के कुछ ही दिन हुए हैं तो फिर आरसीपी सिंह का मतलब क्या है?

  • Share this:
पटना. अगर आप ठान लें तो कोई ऐसी कोई वजह नहीं कि हम 243 सीटें न जीतें. JDU के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने ये बातें विधानसभा प्रभारियों को संबोधित करते हुए कहीं. इस बयान की टाइमिंग को लेकर सियासत गरमाा गई है. आरसीपी सिंह यही नही रुके, उन्होंने विधानसभा प्रभारियों के मनोबल को बढ़ाने के लिए ये भी कहा कि अगर आप बूथ पर मजबूत हैं तो कोई आपको हिला नहीं सकता.

जाहिर है आरसीपी सिंह का ये बयान बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद JDU को उम्मीद के मुताबिक सीट नहीं मिलने के बाद से ही JDU का शीर्ष नेतृत्व यानी नीतीश कुमार परेशान है. संगठन में फेरबदल करने के बाद खुद राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छोड़कर आरसीपी सिंह को राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दिया और वशिष्ठ नारायण सिंह के जगह उमेश कुशवाहा को प्रदेश अध्यक्ष की कमान थमा दी है. कमान थामने के बाद से ही राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रदेश अध्यक्ष लगातार संगठन में फेरबदल कर पार्टी में नई जान फूंकना चाहते हैं लेकिन अभी जब बिहार में NDA की सरकार है. बीजेपी-जेडीयू सहित दो और पार्टियों की सरकार है तो आरसीपी सिंह का सभी विधानसभा सीट पर जीत की बात कहना क्या संकेत देता है.

बात सिर्फ आरसीपी सिंह ने ही बड़ी नहीं कही है बल्कि प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने भी विधान सभा प्रभारियों को कहा कि हमें हर दिन चुनाव की तैयारी
करनी है. इस बयान का भी मतलब इस वक्त क्या है, ये समझने की कोशिश की जा सकती है.
प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान आरसीपी सिंह ने कहा कि प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से जेडीयू की कोशिश है कि आप सबमें नेतृत्व की क्षमता विकसित हो. हमारा मानना है कि आप सब लीडर हैं. अगर आप ठान लें तो कोई कारण नहीं कि 243 की 243 सीटें हम न जीतें. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में हमें पूरी निष्ठा और ईमानदारी से बिहार को आगे बढ़ाने का काम करना है.



आरसीपी सिंह ने कहा कि हमारा संगठन बूथ तक स्थापित हो चुका है. अब हमारा काम हर बूथ पर अपने संगठन को व्यवस्थित और हर चीज से सुसज्जित कर मजबूती देना है. अगर आप बूथ पर मजबूत हैं, आपकी नींव मजबूत है तो आपको कोई हिला नहीं सकता. बूथ के साथियों से नियमित संपर्क और संवाद रखें. आपके नेता ने आप पर भरोसा किया है. हमें उनका भरोसा और हौसला दोनों बढ़ाना है.

सवाल है कि अभी चुनाव परिणाम के कुछ ही दिन हुए हैं और नीतीश कुमार की अगुवाई म सरकार बनी है तो फिर आरसीपी सिंह और उमेश कुशवाहा के बयान का मतलब क्या है? JDU चुनाव की तैयारियों में अभी से क्यू लग गई है?, यह आगे आने वाले दिनों में साफ होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज