• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • Explined: बेगूसराय में हार के बाद कन्हैया ने क्यों किया CPI से किनारा, क्या कांग्रेस की बनेंगे आवाज?

Explined: बेगूसराय में हार के बाद कन्हैया ने क्यों किया CPI से किनारा, क्या कांग्रेस की बनेंगे आवाज?

Kanhaiya Kumar News: भाकपा से दूर होते दिख रहे तेजतर्रार नेता कन्हैया कुमार राजनीति में नई पारी खेलने के लिए तैयार हैं. (फोटो- @kanhaiyakumar)

Kanhaiya Kumar News: भाकपा से दूर होते दिख रहे तेजतर्रार नेता कन्हैया कुमार राजनीति में नई पारी खेलने के लिए तैयार हैं. (फोटो- @kanhaiyakumar)

आपके लिए इसका मतलबः 2019 में हुए लोकसभा चुनाव के बाद तक CPI में सक्रिय और मंचों पर आवाज बुलंद करने वाले कन्हैया कुमार अब अपनी पार्टी से दूर हो गए हैं. कांग्रेस से लगातार बढ़ रहीं उनकी नजदीकियां संकेत दे रही हैं कि वे जल्द ही पुरानी पार्टी छोड़ सकते हैं.

  • Share this:

पटना. सीपीआई की बिहार में बुलंद आवाज रहे जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और भाकपा नेता कन्हैया कुमार ने इन दिनों पार्टी से दूरी बना ली है. कल तक कन्हैया कुमार बिहार में मृत पड़े सीपीआई (CPI) को घूम-घूमकर जिंदा करने की कोशिश कर रहे थे, पार्टी में सांस फूंकने के लिए कार्यक्रम कर रहे थे. ऐसा लग रहा था कि वह पार्टी को बिहार में फिर से जिंदा करेंगे, लेकिन आज खुद कन्हैया ने सीपीआई से दूरी बना ली है. कहा जा रहा है कि ऐसी कई वजहें रही हैं, जिसके कारण कन्हैया पार्टी से छिटकते चले गए.

सीपीआई नेता और युवा चेहरे कन्हैया कुमार के पार्टी से अलग होने की बड़ी वजह अपनी ही पार्टी द्वारा कन्हैया के खिलाफ निंदा प्रस्ताव का पारित होना बताया जा रहा है. कन्हैया पर आरोप था कि बिहार पार्टी कार्यालय सचिव इंदुभूषण के साथ मारपीट और बदसलूकी की गई. इस बात से नाराज पार्टी ने हैदराबाद में हुई तीन दिवसीय बैठक में कन्हैया के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित किया. इस मंच पर राष्ट्रीय महासचिव डी राजा सहित अन्य नेता मौजूद थे. कन्हैया वर्तमान में सीपीआई के नेशनल एजक्यूटिव काउंसिल के सदस्य हैं. निंदा प्रस्ताव के बाद कन्हैया अपने पार्टी के नेताओं से आहत बताए जाते हैं, जिसके कारण उनकी दूरी बढ़ती चली गई.

CPI में राजनीतिक महत्वाकांक्षा पूरा होना मुश्किल

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज