लाइव टीवी

राहुल गांधी के नेतृत्व में 'फ्रंट फुट' पर खेलेगा महागठबंधन !
Patna News in Hindi

Vijay jha | News18 Bihar
Updated: February 3, 2019, 9:03 PM IST
राहुल गांधी के नेतृत्व में 'फ्रंट फुट' पर खेलेगा महागठबंधन !
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की जीत के बाद कांग्रेस के हौसले में जो बढ़ोतरी हुई है उसे बिहार में भी बढ़ाए रखना चाहती है. उत्तर प्रदेश में मायावती और अखिलेश यादव की मांगों के आगे न झुकते हुए कांग्रेस ने पहले ही ये संकेत दे दिया है कि वह एक राष्ट्रीय पार्टी है और उसे कोई आंख नहीं दिखा सकता है.

  • Share this:
तीन दशक बाद रविवार को कांग्रेस ने पटना में रैली की. पार्टी के बढ़ते ग्राफ और महागठबंधन की राजनीति के बीच इस रैली का खास महत्व था. इस मंच पर शरद यादव, तेजस्वी यादव, जीतनराम मांझी , मुकेश सहनी समेत गठबंधन के कई नेता भी मौजूद रहे. इसी मंच से संबोधन के दौरान आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने ये कहा कि राहुल गांधी में पीएम बनने के सारे गुण मौजूद हैं. यह भी कहा कि कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है और सबको साथ लेकर चलने में उसकी जिम्मेदारी बड़ी है. इसी मंच से राहुल गांधी ने भी साफ कर दिया कि बिहार में भी कांग्रेस पार्टी तेजस्वी, मांझी और कुशवाहा के साथ 'फ्रंट फुट' पर खेलेगी और एनडीए को उखाड़ फेंकेगी.

जाहिर है राहुल गांधी ने भी वही बात दोहराई है जो बिहार में कांग्रेस के नेता कई हफ्तों से लगातार कहते आ रहे हैं. यानि मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की जीत के बाद कांग्रेस के हौसले में जो बढ़ोतरी हुई है उसे बिहार में भी बढ़ाए रखना चाहती है. उत्तर प्रदेश में मायावती और अखिलेश यादव की मांगों के आगे न झुकते हुए कांग्रेस ने पहले ही ये संकेत दे दिया है कि वह एक राष्ट्रीय पार्टी है और उसे कोई आंख नहीं दिखा सकता है.

ये भी पढ़ें- कांग्रेस की रैली पर BJP का तंज, मैदान के चयन में हो गई गलती, JDU बोली- 'खोदा पहाड़-निकली चुहिया'

हालांकि बिहार के मामले में थोड़ा पेच फंसा हुआ है. दरअसल कांग्रेस यहां 15 सीटों पर चुनाव लड़ने की बात कर रही है. जाहिर है शरद यादव, उपेन्द्र कुशवाहा, जीतन राम मांझी और मुकेश सहनी की महत्वाकांक्षाओं को देखते हुए यह आसान नहीं लगता. वहीं आरजेडी जिस 20-20 फॉर्मूले (20 सीटों पर आरजेडी और बाकी 20 में अन्य दल) पर आगे बढ़ रही थी वह भी लागू हो पाना संभव नहीं लगता.

पटना के गांधी मैदान में एक मंच पर कांग्रेस के तीन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ महागठबंधन के नेता


गौरतलब है कि पहले आरजेडी -20, कांग्रेस-8, मांझी-4, कुशवाहा-4, शरद यादव- 2 और मुकेश सहनी- 2 सीटों पर बात हो रही थी. इस फॉर्मूले में यह भी कंडीशन था कि मांझी को 2 सीटें और 2 सीटें वाम दलों को दे दी जाए. लेकिन विश्वस्त सूत्रों के अनुसार तीन राज्यों के चुनाव नतीजों के बाद कांग्रेस 15 सीटें मांग रही है. जाहिर है ऐसे में आरजेडी के सामने सभी को साधने की बड़ी चुनौती आ गई है.

ये भी पढ़ें- राहुल गांधी ने फिर लगवाए 'चौकीदार चोर है' के नारे, PU को सेंट्रल यूनिवर्सिटी का दर्जा देने का वादाअगर वह कांग्रेस की बातों पर राजी होती है तो उसे अपनी सीटें छोड़नी पड़ेंगी, फिर भी गठबंधन के बाकी दलों की मांगें पूरी नहीं की जा सकतीं. ऐसे में तेजस्वी यादव का ये कहना कि कांग्रेस बड़ी पार्टी है और उसे ही सबको साथ लेकर चलना है, का मतलब साफ समझ में आ जाता है. जाहिर तौर पर तेजस्वी ने ऐसा कहकर बॉल कांग्रेस के पाले में डालने की कोशिश की है.

पटना के गांधी मैदान में कांग्रेस की रैली


तेजस्वी ने अपनी पार्टी का स्टैंड साफ कर दिया है और यह इशारा कर दिया है कि कांग्रेस अपनी 15 सीटों की मांग से पीछे हटे. वहीं कांग्रेस के सूत्र बताते हैं कि कांग्रेस बराबरी का फॉर्मूला पेश कर रही है. कयास लगाए जा रहे हैं कि कांग्रेस-आरजेडी 15-15 सीटों पर लड़े और बाकी सीटों पर अन्य घटक दल अपने उम्मीदवार खड़े करें. ठीक उसी तर्ज पर जैसे जेडीयू-बीजेपी के बीच 17-17 का फॉर्मूला सेट किया गया है और शेष सीटें एलजेपी को दी गई हैं.

ये भी पढ़ें- गांधी मैदान से कांग्रेस के मुख्यमंत्रियों का ट्रिपल अटैक, सबने कहा- NDA को सत्ता से हटाएं

बहरहाल सीटों के बंटवारे को लेकर महागठबंधन के घटक दलों के नेता लालू यादव और दिल्ली दरबार तक दौड़ लगा चुके हैं. लेकिन आखिरी फैसला नहीं हुआ है. जाहिर तौर पर सीटों के बंटवारे और उसके चयन को लेकर महागठबंधन के दलों में एका नहीं नजर आ रहा है. ऐसे में राहुल गांधी के तेजस्वी और लालू यादव के साथ 'फ्रंट फुट' पर खेलने और छक्का लगाने के बयान के मायने तलाशे जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें- बिहार की राजनीति में 'फ्रंट फुट' से 'बैक फुट' पर चली गई कांग्रेस, जानिए वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 3, 2019, 6:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर