अपना शहर चुनें

States

बिहार: कांग्रेस के ऑफर में कितना है दम, क्या नीतीश फिर से छोड़ देंगे NDA का साथ ? 

बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार में देरी से सियासत गर्माई हुई है.
बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार में देरी से सियासत गर्माई हुई है.

Bihar Politics: बिहार में कांग्रेस ने दावा किया है कि बीजेपी के दबाब के कारण नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की चल नहीं पा रही है. बीजेपी (BJP) चाहती है कि गृह विभाग नीतीश कुमार से ले लिया जाए.

  • Share this:
पटना. मकर संक्रांति के बाद बिहार में एक बार फिर से जोड़-तोड़ वाली सियासी बयानबाजी तेज होने लगी है. कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा (Congress MLA Ajit Sharma) ने बिहार में हो रही अपराधिक घटनाओं के लिए सरकार को दोषी बताते हुए, बीजेपी और जेडीयू (BJP-JDU) पर हमला किया है. अजीत शर्मा ने कहा है कि बिहार में अपराधियों के तांडव के लिए सरकार जिममेवार है. बीजेपी दबाब के कारण नीतीश कुमार की चल नहीं पा रही है. बीजेपी चाहती है कि गृह विभाग नीतीश कुमार से ले लिया जाए.

अजीत का दावा है कि बीजेपी और जदयू दोनों दल उधेड़बुन में लगी है ऐसी परिस्थिति में नीतीश कुमार और जदयू के पास एक ही विकल्प है महागठबंधन. नीतीश कुमार महागठबंधन का हिस्सा बनें और महागठबंधन के सभी घटक दल मिलकर बिहार का विकास करेंगे क्योंकि बीजेपी के साथ नीतीश कुमार असहज महसूस कर रहे हैं और चाह कर के भी वह सरकार में कोई काम नही कर पा रहे हैं.

अजीत शर्मा के इस बयान के बाद बिहार की सियासत में कड़ाके की ठंड में भी गर्माहट बढ़ गयी है. अजीत शर्मा के इस ऑफर पर बीजेपी और जेडीयू दोनों ने आपत्ति जताते हुए कांग्रेस और महागठबंधन पर हमला किया है. जदयू नेता नीरज कुमार ने कहा- मान ना मान और मैं तेरा मेहमान. महात्मा गांधी के आदर्शों पर चलने वाली कांग्रेस पार्टी आज अपराधियों और भ्रष्टाचारियों के सामने दंडवत है तो वहीं बीजेपी विधायक नितिन नवीन ने कहा कि अजीत शर्मा की पूछ अपनी ही पार्टी में नहीं हो रही है. उनके विधायक उनकी बात नहीं मान रहे हैं तो वे चर्चा में रहने के लिए इस तरीके का बयान दे रहे हैं. एनडीए एकजुट है और महागठबंधन के लोग किसी मुगालते में ना रहें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज