PMCH में बेहोश होकर जमीन पर गिरी प्रसूता, फिर भी नहीं मिली व्हील चेयर

हेल्थ मैनेजर की माने तो बच्चे की मौत के बाद घबराहट से सुनीता बीमार हो गई है. यही वजह है कि वह पैदल चलने के दौरान बेहोश हो गई.

News18 Bihar
Updated: July 2, 2019, 6:18 PM IST
PMCH में बेहोश होकर जमीन पर गिरी प्रसूता, फिर भी नहीं मिली व्हील चेयर
पीड़िता अपने पति के साथ
News18 Bihar
Updated: July 2, 2019, 6:18 PM IST
बिहार में बेपटरी स्वास्थ्य व्यवस्था पर यूं ही हाय तौबा नहीं मची है, बल्कि हकीकत भी कुछ ऐसा ही है. मामला बिहार के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच का है, जहां एक प्रसूति महिला को वार्ड तक जाने के लिए व्हील चेयर नहीं मिली. ऐसे में प्रसूति सुनीता देवी को वार्ड तक पैदल ही जाना पड़ा.

पैदल चलने के दौरान सुनीता बार-बार हो रही थी बेहोश

पैदल चलने के दौरान सुनीता बार-बार बेहोश हो रही थी और चलने में असमर्थ थी, लेकिन मजबूर पति अपनी पत्नी को वार्ड तक पहुंचाने का जद्दोजहद करता रहा, जब तक कि वह बेहोश होकर जमीन पर गिर नहीं गई. जानकारी के मुताबिक, सुनीता देवी ने चंद घंटे पहले ही अपने नवजात बच्चे के टुकड़े को तड़प-तड़पकर मरते देखा है. वहीं, आईसीयू में भर्ती उसके दूसरे बच्चे की सांसें अधर में लटकी हुई हैं. ऐसे में जुड़वा बच्चों में से एक बच्चे की मौत के बाद जब सुनीता की हालत बिगड़ी तो डॉक्टरों ने उसे इमरजेंसी वार्ड में रेफर कर दिया.

महिला की हालत में कोई सुधार नहीं 

कहा जा रहा है कि इमरजेंसी वार्ड में चेक करने बाद डॉक्टरों ने कहा उसकी हालत ठीक है, लेकिन ऐसा नहीं था. महिला की हालत में कोई सुधार नहीं था. वह पैदल चल पाने में भी असमर्थ थी. वहीं, व्हील चेयर वाले भी वार्ड तक बिन पैसे लिए पीड़िता को ले जाने को तैयार नहीं थे. आरोप है कि व्हील चेयर वाले पीड़िता को ले जाने के लिए 100 रुपए मांग रहे थे. ऐसे में आर्थिक रूप से कमजोर पति श्रीराम राय किसी तरह सुनीता के बाहों का सहारा देकर आधे रास्ते तक पहुंचा ही था कि वह बेहोश होकर जमीन पर गिर गई.

बच्चे की मौत के बाद घबराहट से सुनीता हो गई बीमार 

इसके बावजूद अस्पताल के किसी कर्मी ने सुनीता को उठाने की कोशिश नहीं की. इस बीच पति ने अपनी पत्नी को गोद में उठाकर दौड़ना शुरू कर दिया. इसके बाद अस्पताल की हेल्थ मैनेजर ने आनन -फानन में व्हील चेयर  की व्यवस्था करवाई और महिला को वार्ड तक भेजा गया. हेल्थ मैनेजर की माने तो बच्चे की मौत के बाद घबराहट से सुनीता बीमार हो गई है. बताते चलें कि छपरा की रहने वाली सुनीता ने तीन दिन पहले छपरा के एक अस्पताल में अपने जुड़वां बच्चे को जन्म दिया था, जहां से हालत बिगड़ने पर उसे पीएमसीएच रेफर कर दिया गया. इलाज के दौरान मंगलवार को एक बच्चे की मौत हो गई तो दूसरा आईसीयू में भर्ती है.
Loading...

रिपोर्ट- रजनीश कुमार

ये भी पढ़ें- 

छपरा गैंगरेप: वारदात के 72 घंटे बाद पकड़ा गया मुख्य आरोपी

सुर्खियां: सरकारी योजनाओं का लाभ हर गरीब को मिलेगा-नीतीश 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 2, 2019, 4:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...