होम /न्यूज /बिहार /बिहारः गर्भाशय की जगह नर्सिंग होम में निकाल लिए महिला के दोनों गुर्दे, अब डायलिसिस पर चल रही सांसें

बिहारः गर्भाशय की जगह नर्सिंग होम में निकाल लिए महिला के दोनों गुर्दे, अब डायलिसिस पर चल रही सांसें

गर्भाशय की जगह नर्सिंग होम में निकाले महिला के दोनों गुर्दे (सांकेतिक तस्वीर)

गर्भाशय की जगह नर्सिंग होम में निकाले महिला के दोनों गुर्दे (सांकेतिक तस्वीर)

Bihar News: बिहार पुलिस ने मुजफ्फरपुर जिले में पुलिस ने एक निजी नर्सिंग होम के मालिक और एक चिकित्सक को पकड़ने के लिए ती ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

राज्य सरकार उठाएगी सुनीता के इलाज का खर्च, लेकिन बिना गुर्दा जिएगी कैसे?
आरोपी शुभकांत क्लिनिक के मालिक पवन कुमार और आरके सिंह को पकड़ने विशेष टीम बनी
नियमित डायलिसिस पर है महिला, हालत नाजुक

पटना/मुजफ्फरपुर. बिहार पुलिस ने मुजफ्फरपुर जिले में एक महिला के दोनों गुर्दे कथित तौर पर निकालने के मामले में सख्ती दिखाई है. पुलिस ने एक निजी नर्सिंग होम के मालिक और एक चिकित्सक को पकड़ने के लिए तीन विशेष दलों का गठन किया है. एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. तीन बच्चों की मां पीड़िता सुनीता देवी 15 सितंबर से पटना के इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान ‘आईजीआईएमएस‘ के गहन चिकित्सा कक्ष ‘आईसीयू‘ में डायलिसिस पर है.

पुलिस ने बताया कि मुजफ्फरपुर के बरियारपुर इलाके में एक अनधिकृत नर्सिंग होम शुभकांत क्लिनिक में उसके दोनों गुर्दे कथित तौर पर निकाल लिये गये थे. जहां तीन सितंबर को उसकी गर्भाशय निकालने की सर्जरी हुई थी. हालांकि, सरकारी आईजीआईएमएस के चिकित्सकों ने कहा कि उसके दोनों गुर्दे निकाल लिये गये हैं या नहीं, इसकी पुष्टि के लिए और जांच की जरूरत है. सकरा पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक सरोज कुमार ने कहा- ‘गर्भाशय हटाने की सर्जरी के बाद, वह पेट दर्द से पीड़ित रही. आखिरकार वह सात सितंबर को श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल ‘एसकेएमसीएच‘ गई. जांच करने के बाद एसकेएमसीएच के चिकित्सकों ने उसके परिवार को बताया कि उसके दोनों गुर्दे निकाल लिये गये हैं.‘

आरोपी शुभकांत क्लिनिक के मालिक पवन कुमार और आरके सिंह को पकड़ने विशेष टीम बनी

उन्होंने कहा- ‘आरोपियों शुभकांत क्लिनिक के मालिक पवन कुमार और आर के सिंह को पकड़ने के लिए तीन विशेष दलों का गठन किया गया है. आरोपियों के नीम हकीम होने का संदेह है.‘ आईजीआईएमएस में सुनीता का इलाज कर रहे चिकित्सकों ने कहा कि उनकी हालत बेहद नाजुक है.

नियमित डायलिसिस पर है महिला, हालत नाजुक
आईजीआईएमएस में वृक्क विज्ञान ‘नेफ्रोलॉजी‘ और गुर्दा प्रतिरोपण विभाग के प्रमुख डॉ. ओम कुमार ने कहा- ‘वह नियमित डायलिसिस पर है और उसकी हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है. उसकी स्थिति में सुधार होने पर उसे गुर्दा प्रतिरोपण से गुजरना होगा. उसकी स्थिति पर करीबी नजर रखी जा रही है.‘

राज्य सरकार उठाएगी सुनीता के इलाज का खर्च, लेकिन बिना गुर्दा जिएगी कैसे?
आईजीआईएमएस में मूत्र विज्ञान ‘यूरोलॉजी‘ विभाग के प्रमुख डॉ. राजेश तिवारी ने हालांकि कहा कि उनके दोनों गुर्दे निकाले गये हैं या नहीं इसकी पुष्टि के लिए और जांच की जरूरत है.आईजीआईएमएस के प्राचार्य डॉ. रंजीत गुहा ने कहा कि राज्य सरकार ने सुनीता के परिवार को उनके इलाज का खर्च वहन करने का आश्वासन दिया है.

Tags: Bihar News, Muzaffarpur news, Nitish kumar, PATNA NEWS

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें