बिहार की राजनीति में बढ़चढ़ कर दिखने लगी महिला उम्मीदवारों की दावेदारी

2015 की बिहार विधानसभा चुनाव में 28 महिला उम्मीदवारों ने जीत अपने नाम किया था. (सांकेतिक तस्वीर)
2015 की बिहार विधानसभा चुनाव में 28 महिला उम्मीदवारों ने जीत अपने नाम किया था. (सांकेतिक तस्वीर)

पिछले विधानसभा चुनाव में महिलाओं की भागीदारी के आंकड़े पर अगर नजर डालें तो 2015 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में 243 सीटों में से 28 पर महिलाओं ने जीत हासिल की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 18, 2020, 9:46 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) के नजदीक आते ही पुरुषों के साथ साथ महिलाएं भी टिकट के लिए पार्टी कार्यालयों और शीर्ष नेताओं का चक्कर लगा रही हैं. एक समय था जब महिलाएं राजनीति से किनारा रखती थीं, लेकिन अब साल दर साल महिलाएं भी इसमें बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रही हैं. पुरुषों के साथ-साथ आधी आबादी भी राजनीति में सक्रिय हो गई है और टिकट के लिए जद्दोजहद में लग गई है. पार्टी कार्यालय में पूरे दिन पुरुषों के साथ-साथ महिलाएं भी अपनी उम्मीदवारी की दावेदारी करती दिख रही हैं.

पिछले चुनाव पर एक नजर

पिछले विधानसभा चुनाव में महिलाओं की भागीदारी के आंकड़े पर अगर नजर डालें तो 2015 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में 243 सीटों में से 28 पर महिलाओं ने जीत हासिल की थी, जिनमें 10 विधायक राष्ट्रीय जनता दल (RJD), 9 जनता दल यूनाइटेड ( JDU), 4 कांग्रेस (Congress) से, 4 भारतीय जनता पार्टी ( BJP) से और एक निर्दलीय हैं. इन 28 महिला विधायकों में से 25 ने पुरुष उम्मीदवारों को हराया था. 28 में से 8 महिला विधायकों ने अपने विरोधी उम्मीदवारों के मुकाबले 20,000 से भी अधिक मत हासिल किया था. जीत का सबसे बड़ा अतंर जनता दल ( यू ) की वीना कुमारी के खाते में दर्ज हुआ था. वीना कुमारी ने त्रिवेणीगंज से लोजपा के अनंत कुमार भारती को 52,400 मतों से हराया था.



2015 में पार्टियों में महिला उम्मीदवार :
◆भारतीय जनता पार्टी ने जिन 151 सीटों पर चुनाव लड़ा, उनमें से 15 टिकट महिलाओं को दिया. चार महिला उम्मीदवारों के खाते में जीत आया.
◆लालू की आरजेडी ने तो 101 में से 10 सीटों पर महिलाओं को टिकट दिया और सभी अपना चुनाव जीत गईं.
◆नीतीश की जदयू ने भी 10 महिलाओं को टिकट दिया और उनमें से 9 को जीत हासिल हुई.
◆कांग्रेस पार्टी की ओर से 5 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली महिलाओं में से 4 विजयी हुईं.

बरहाल अब ये अंदाज लगाया जा सकता है कि धीरे-धीरे ही सही पर अब देश की आधी आबादी भी राजनीति में बढ़चढ़ कर आगे आ रही है और अधिक मतों के अंतर से जीत भी हासिल कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज