Covid-19: केले के पेपर से बनाया ऑर्गेनिक मास्क, N95 से बेहतर और सस्ता भी
Patna News in Hindi

Covid-19: केले के पेपर से बनाया ऑर्गेनिक मास्क, N95 से बेहतर और सस्ता भी
केले के पेपर से बने मास्क को दिखाता युवक

बनाना पेपर से बना ये मास्क बायोडिग्रेडेबल , इको फ्रेंडली, एंटी बैक्टीरियल, एंटीमाइक्रोबॉयल, वेदरप्रूफ ऑर्गेनिक होने के साथ-साथ यह पूरी तरह से देसी और हाथ से बना हुआ मास्क है.

  • Share this:
पटना. लॉकडाउन (Lockdown) बहुतों के लिए मुश्किल भरा रहा तो बहुतों के लिए यह सुनहरा मौका भी लेकर आया. इस संकट की घड़ी में कुछ ऐसे भी लोग हैं जिन्होंने इस पूरे लॉकडाउन में अपने समय को जाया नहीं होने दिया और उसका भरपूर उपयोग किया. आज हम एक ऐसे ही शख्स से मिलाते हैं जिसने बनाना पेपर से ऑर्गेनिक मास्क (Organic Mask) बनाया है. यह ऑर्गेनिक मास्क N95 (N95 Mask) से भी बेहतर है और काफी सस्ता है.

केले में होता है एंटी बैक्टीरियल तत्व

शरद एक पेपर मेसी के चर्चित कलाकार हैं. यह पेपर पर अलग-अलग की प्रयोग करते रहते हैं. कोरोना बन्दी में जब सभी परेशान थे तो शरद ने इसमे नया प्रयोग ये किया है कि केले के रेशे से हाथ से बनी कागज पर विशेष तकनीक से मास्क बनाया है. इनका दावा है कि इस पर कोरोना वायरस का असर नहीं के बराबर होगा. ये मास्क बायोडिग्रेडेबल , इको फ्रेंडली, एंटी बैक्टीरियल, एंटीमाइक्रोबॉयल, वेदरप्रूफ ऑर्गेनिक होने के साथ-साथ यह पूरी तरह से देसी और हाथ से बना हुआ मास्क है.



काफी कम संसाधनों में बन जाता है मास्क



इसको बनाने के लिए किसी भी तरह की कोई भी मशीन की जरूरत नहीं होती है. हाथ से बने कागज के अलावा कॉपर के तार, कॉटन, लेटेक्स रबर और धागे के प्रयोग से इसे बनाया जाता है. शरद ने इस मास्क में तीन लेयर रखा है. जिसमें पैड के रूप में फिल्टर और मास्क के ठहराव के लिए पतले कॉपर वायर का प्रयोग किया है.

साधारण कागजों से काफी मजबूत है ये बनाना पेपर

न्यूज 18 की टीम जब शरद के यहां पहुंची तो उनसे जानना चाहा कि वह पेपर कैसे बनाते हैं तो शरद ने पेपर बनाने के पूरे प्रोसेस हो कैमरे पर बताया और बताया कि किस तरह से केले की रेशे को पहले वह प्रोसेस करते हैं और उसके बाद उसे पेपर का रूप देते हैं जो अन्य कागजों से काफी मजबूत होता है.  शरद के मुताबिक हाथ से बना यह कागज ना तो पानी में खुलेगा और नहीं फटेगा. यानी कपड़े की तरह आप इसे धो सकते हैं.

8 से 10 रु में बन जायेगा ऑर्गेनिक मास्क

इससे तैयार मास्क पूरी तरह से ऑर्गेनिक सुरक्षा कवच के रूप में काम करेगा. उनका दावा है यह दुनिया का सबसे मजबूत कागज है जिसे एक झटके में सीखने या फिर जोर लगाने पर भी नहीं फटता है. शरद के मुताबिक यदि इसे बड़े पैमाने पर बनाया जाए तो इसकी कीमत आठ से 10 रुपए ही आएगी जो अन्य मास्क से काफी सस्ती है.

इस मास्क से सांस नही फूलता

राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित शरद बताते हैं कि कई शोधों में यह प्रमाणित हो चुका है की केले के तने की जूस में एंटीबैक्टीरियल, एंटीमाइक्रोबियल तत्व मौजूद रहते हैं. इसलिए केले के रेशे बनाई है कागज कोविड-19 से बेहतर विकल्प है.वह बताते हैं कि इस मास को घंटों पहना जा सकता है. सांस फूलने जैसी परेशानी इसमें बिल्कुल नहीं होगी.

ये भी पढ़ें- गोपालगंज ट्रिपल मर्डर केस: तेजस्वी के आरोपों पर DGP ने तोड़ी चुप्पी, FB LIVE में कही ये बात...

ये भी पढ़ें- खगड़िया में लेफ्ट नेता को गोलियों से भूना, 2 महीने में दो बड़े चेहरों की हत्या
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading