लाइव टीवी

सुशील मोदी का तेजस्वी से सवाल, 29 साल में ही 52 संपत्तियों के मालिक कैसे बन गए
Patna News in Hindi

News18 Bihar
Updated: November 29, 2018, 6:09 AM IST
सुशील मोदी का तेजस्वी से सवाल, 29 साल में ही 52 संपत्तियों के मालिक कैसे बन गए
(फाइल फोटो- सुशील मोदी)

सुशील मोदी ने पूछा कि तेजस्वी यादव बताएं कि जब उनके पास कोई पुश्तैनी संपत्ति नहीं थी, इंटर की पढ़ाई भी नहीं कर पाए, क्रिकेट में विफल रहे तो आखिर ऐसी क्या योग्यता थी जिसके बलबूते 29 साल की उम्र में 52 संपत्तियों के मालिक बन गए?

  • Share this:
बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम राबड़ी देवी और तेजस्वी यादव के राजनीतिक हमले का जवाब डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने सवाल पूछते हुए  दिया है. उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव बेबुनियाद और तथ्यहीन आरोप लगा रहे हैं. सुमो ने पूछा है कि महज 29 साल की उम्र में ही 52 संपत्तियों के मालिक कैसे बन गए. उन्होंने कह कि पारिवारिक विवाद और सरकारी आवास खाली करने से बचने के लिए ही आरजेडी सीबीआई का मुद्दा उठा रही है.

सुशील मोदी ने पटना में बयान जारी कर पूछा कि तेजस्वी यादव बताएं कि जब उनके पास कोई पुश्तैनी संपत्ति नहीं थी, इंटर की पढ़ाई भी नहीं कर पाए, क्रिकेट में विफल रहे तो आखिर ऐसी क्या योग्यता थी जिसके बलबूते 29 साल की उम्र में 52 संपत्तियों के मालिक बन गए?

ये भी पढ़ें- ऐश्वर्या राय से तलाक की अर्जी पर सुनवाई आज, तेजप्रताप यादव भी कोर्ट में रह सकते हैं मौजूद



उन्होंने यह भी पूछा कि 'तेजस्वी बताएं कि आखिर सदाचार की किस कमाई से वे 5 मकान, 47 भूखंड सहित कुल 52 संपत्ति के मालिक बन गए हैं? आखिर लालू परिवार के पास 141 भूखंड के अतिरिक्त 30 फ्लैट और आधे दर्जन मकान कैसे हैं? आखिर तेजस्वी के पास पटना में 3.5 एकड़ जमीन कैसे आ गई, जिस पर 750 करोड़ का मॉल बन रहा था? पटना में टाटा स्टील के करोड़ों के दो मंजिला मकान और दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में 100 करोड़ से ज्यादा के दो मंजिला मकान उनके नाम कैसे हो गए?



ये भी पढ़ें- इस जज के पास तेजप्रताप ने दाखिल की है तलाक की अर्जी, सुनवाई आज

सुशील मोदी ने यह भी पूछा कि तेजस्वी बताएं कि आखिर 12 वर्ष की उम्र में रघुनाथ झा और कांति सिंह की ऐसी क्या सेवा की जिससे खुश होकर गोपालगंज और पटना में उन्होंने करोड़ों का दो मंजिला मकान गिफ्ट कर दिया?'

सुशील मोदी ने यह भी पूछा कि आखिर कांति सिंह, रघुनाथ झा, ललन चौधरी, हृदयानंद चौधरी, प्रभुनाथ यादव, सुभाष चौधरी, चंद्रकांता चौधरी, मंगरू यादव जैसे एक दर्जन लोगों ने लालू परिवार को ही करोड़ों की जमीन, संपत्ति क्यों गिफ्ट कर दी? क्या यह सच नहीं है कि राजेश रंजन और मो. शमीम ने विधान पार्षद बनाने की एवज में पटना शहर में 4 प्लॉट तेजस्वी यादव के नाम कर दिए?

उन्होंने कहा कि तेजस्वी बिहार की जनता से अपने कृत्य के लिए माफी मांगें. शोर मचाने, हंगामा करने और सदन की कार्यवाही बाधित करने से उनकी सच्चाई छुप नहीं जाएगी.

ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2018, 6:07 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading