Home /News /bihar /

investigation team of bihar police trace new faces of nit in bpsc pt paper leak bramk

BPSC Paper Leak: जांच के दायरे में जुड़े नये नाम, पूछताछ के लिए बुला सकती है SIT की टीम

बीपीएससी सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा का प्रश्‍नपत्र लीक मामले की जांच कर रही आर्थिक अपराध इकाई ने बड़ा दावा किया है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

बीपीएससी सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा का प्रश्‍नपत्र लीक मामले की जांच कर रही आर्थिक अपराध इकाई ने बड़ा दावा किया है. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

BPSC Paper Leak Update: 67वीं बीपीएससी परीक्षा पेपर लीक कांड की जांच बिहार पुलिस की ईओयू टीम कर रही है. जांच के दायरे में नये नाम जुड़े हैं उनके तार एनआईटी जैसी संस्थाओं से जुड़े हैं. एसआईटी को यह अंदेशा है कि गिरोह के सदस्यों ने वायरल प्रश्न पत्र को सॉल्व करने के मकसद से एनआईटी के छात्रों की मदद ली है.

अधिक पढ़ें ...

पटना. बिहार लोक सेवा आयोग यानी बीपीएससी पेपर लीक कांड की जांच के दायरे में अब एनआईटी के पास आउट कुछ और छात्र भी शामिल हो सकते हैं. पेपर लीक कांड की जांच कर रही आर्थिक अपराध इकाई की एसआईटी से इस बात के संकेत मिल चुके हैं. दरअसल कदमकुआं थाना क्षेत्र के लोहानीपुर में कंट्रोल रूम चलाने वाले सॉल्वर गिरोह का सरगना आनंद गौरव उर्फ पिंटू यादव एनआईटी से स्नातक पास है. वो फिलहाल फरार चल रहा है. आर्थिक अपराध इकाई के सूत्रों की मानें तो लोहानीपुर में उपकरणों और मोबाइल फोन की जांच के दौरान एनआईटी से पास आउट युवकों के आनंद की निकटता की जानकारी मिली है.

बीपीएससी परीक्षा और पेपर लीक की घटना के दौरान इन नंबरों पर आनंद उर्फ पिंटू यादव और उसके गिरोह के सदस्यों से कुछ एनआईटी पास युवकों ने बातचीत की है. अभी जांच टीम के पास पर्याप्त साक्ष्य नहीं है लेकिन वह इस दिशा में काम कर रही है. इस बात की संभावना जताई जा रही है कि जल्दी ही कुछ लोगों को पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है. इसे लेकर तकनीकी अनुसंधान जारी है. दरअसल जांच टीम को इस बात का शक है कि एनआईटी पास आउट छात्रों का इस्तेमाल स्कॉलर के रूप में किया गया है.

एसआईटी को यह अंदेशा है कि गिरोह के सदस्यों ने वायरल प्रश्न पत्र को सॉल्व करने के मकसद से इन छात्रों की मदद ली है. इसके बदले में इन्हें मोटी राशि दिए जाने की भी बात सामने आ रही है, साथ ही राजधानी के कुछ कोचिंग संचालक और युवकों को स्कॉलर की भूमिका में भी चिन्हित कर जांच की जा रही है. अब आर्थिक अपराध इकाई एक आईएएस के करीबी शिक्षक कृष्ण मोहन सिंह को रिमांड पर ले सकती है.

कृष्ण मोहन सिंह वैशाली केंद्रीय विद्यालय का शिक्षक रहा है जो आईएएस अफसर का पैतृक घर है. इसके अलावा बीपीएससी की तैयारी कराने वाले निशिकांत राय और नाला रोड से गिरफ्तार किए गए सॉल्वर गैंग के सदस्य अमित सिंह से भी पूछताछ के लिए रिमांड की अपील की जा सकती है.

Tags: Bihar News, BPSC, BPSC exam

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर