Bihar Election 2020: भागलपुर के चुनावी मंच से पीएम मोदी की अपील- त्‍योहारों पर अधिक से अधिक लोकल खरीदें

पीएम मोदी की अपील- त्योहारों पर जो भी खरीदें, लोकल खरीदें (ANI)
पीएम मोदी की अपील- त्योहारों पर जो भी खरीदें, लोकल खरीदें (ANI)

PM Modi addresses a public rally in Bhagalpur: पीएम मोदी ने कहा कि बिहार आत्मनिर्भरता के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है. अगर बिहार में विरोध और अवरोध को जरा भी मौका मिला तो बिहार की गति और प्रगति दोनों धीमी पड़ जाएगी. इसलिए, नीतीश जी की अगुआई में भाजपा, जेडीयू, हम और VIP के गठबंधन यानि NDA को एक-एक वोट पड़ना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 4:09 PM IST
  • Share this:
भागलपुर. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को बिहार (Bihar) के भागलपुर में चुनावी सभा के दौरान लोगों से खास अपील की. पीएम मोदी ने कहा, 'त्योहारों का सीजन है. इसलिए जो भी खरीदारी आप करेंगे, अधिक से अधिक लोकल खरीदिए. हमारे मिट्टी के हस्तशिल्पियों, दूसरे शिल्पियों के बनाए बर्तन, दीए, खिलौने जरूर खरीदिए. हम मिलकर कोशिश करेंगे तो बिहार भी आत्मनिर्भर होगा, भारत भी आत्मनिर्भर होगा.' उन्‍होंने कहा कि बिहार आत्मनिर्भरता के संकल्प के साथ आगे बढ़ रहा है. अगर बिहार में विरोध और अवरोध को जरा भी मौका मिला तो बिहार की गति और प्रगति दोनों धीमी पड़ जाएगी. इसलिए, नीतीश जी की अगुआई में भाजपा, जेडीयू, हम और VIP के गठबंधन यानी NDA को एक-एक वोट पड़ना चाहिए.

पीएम मोदी ने कहा, 'जब ये लोग सरकार में थे उसकी तुलना में बिहार में ही धान की सरकारी खरीद चार गुना और गेहूं की सरकार खरीद पांच गुना बढ़ी है. इनके पास आज तक इसका जवाब नहीं है कि जब इनकी सरकार थी तब MSP पर फैसला क्यों नहीं लिया?' उन्‍होंने कहा कि ये NDA की ही सरकार है जिसने किसानों को लागत का डेढ़ गुना MSP देने की सिफारिश लागू की थी. ये NDA की ही सरकार है जिसने सरकारी खरीद केंद्र बनाने और सरकारी खरीद, दोनों पर बहुत जोर दिया है. एनडीए के विरोधी दल जब किसानों के लिए कुछ कर नहीं पाए तो अब किसानों को लगातार झूठ बोलने में जुट गए हैं. आजकल ये लोग MSP को लेकर अफवाहें फैला रहे हैं.

कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर पर और तेजी से काम होने की संभावना बनी है: PM
प्रधानमंत्री ने कहा कि अब बिहार के गांवों में, छोटे शहरों में कोल्ड स्टोरेज की व्यवस्था का और विस्तार होगा. जो नए कानून बने हैं उससे यहां के आम, मक्का, लीची, केले की पैदावार करने वाले किसानों को बहुत मदद मिलने वाली है. नए प्रावधानों से खेत के पास ही स्टोरेज की सुविधाएं तैयार होंगी. हाल ही में देश की कृषि को आधुनिक बनाने के लिए बड़े सुधार किए गए हैं, उनका भी लाभ बिहार के किसानों को होगा. मंडियों से जुड़ा कानून तो यहां पहले ही खत्म कर दिया गया था अब बिहार में कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर पर और तेजी से काम होने की संभावना बनी है.
पीएम मोदी ने कहा, 'बिहार में पहले जो सरकारें रही उन्होंने आदिवासियों के कल्याण के लिए उन्हें शोषण से मुक्ति दिलाने के लिए सिर्फ और सिर्फ झूठे वादे किए. अब एनडीए सरकार आदिवासी बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ, उनके लिए घर, उनके लिए रोजगार पर पूरा ध्यान दे रही है.' उन्‍होंने कहा कि सामान्य जन की सुविधा के लिए, बिहार के युवा के रोजगार और स्वरोजगार के लिए बिहार के इंफ्रास्ट्रक्चर पर ध्यान देना बहुत ज़रूरी था. इसी सोच के साथ बिहार के लिए 1.25 लाख करोड़ रुपये का प्रधानमंत्री पैकेज घोषित किया गया था.



प्रधानमंत्री ने कहा कि भागलपुर सहित बिहार के शहरों की जो हालत इन लोगों ने कर दी थी, वो आप अच्छी तरह जानते हैं. छोटे दुकानदार, व्यापारी कारोबारी, मज़दूर इनके जंगलराज में हर कोई परेशान था. बिहार अच्छी शिक्षा के अवसरों का भी हकदार है. क्या ये उन लोगों द्वारा सुनिश्चित किया जा सकता जिन्हें शिक्षा का महत्व ही नहीं पता या वो लोग जो IIT, IIM और AIIMS को राज्य में लाने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं. बिहार बेहतर कानून व्यवस्था का हकदार है. ये कौन सुनिश्चित करेगा? वो जिन्होंने गुंडों को खिलाया-पिलाया पाला या वो जिन्होंने गुंडों पर डंडा चलाया. बिहार निवेश का हकदार है. ये कौन सुनिश्चित कर सकता है? जिन्होंने बिहार को जंगल-राज बना दिया या जो लोग बिहार को सुशासन दे रहे हैं, बिहार के विकास में जी जान से जुटे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज