वैशाली: युवती को जिंदा जलाने वाले आरोपियों को 15 दिन बाद भी नहीं पकड़ पाई पुलिस, मामले पर राजनीति गरमाई

वैशाली में युवती को जलाने वाले आरोपियों को पुलिस अभी तक नहीं पकड़ पाई है.
वैशाली में युवती को जलाने वाले आरोपियों को पुलिस अभी तक नहीं पकड़ पाई है.

वैशाली (Vaishali) में छेड़छाड़ (Molestation) का विरोध करने पर युवती को जिंदा जलाने वाले आरोपियों को घटना के 15 दिन बाद भी बिहार पुलिस (Bihar Police) पकड़ नहीं पाई है. अब इस मामले को लेकर बिहार (Bihar) में जमकर राजनीति हो रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 17, 2020, 5:32 PM IST
  • Share this:
वैशाली. वैशाली (Vaishali) के चांदपुरा थाना के रसलपुर हबीब गांव में युवती के ऊपर मिट्टी का तेल डालकर जलाने की घटना के बाद युवती की अस्पताल (Hospital) में इलाज के दौरान मौत (Death) हो गई. लेकिन घटना के 15 दिन बाद भी पुलिस (Police) इस मामले में एक भी आरोपी को नहीं पकड़ पाई है.आरोपी और उसका परिवार गांव के घर में ताला लगाकर फरार हो गये हैं.

पुलिस की कार्यशैली से परेशान लोगों का आरोप है कि घटना के 15 दिन बीतने के बाद भी पुलिस ने इस मामले में आरोपियों को नहीं पकड़ पाई है. ग्रामीणों का आरोप है कि युवती की मौत के बाद जब ग्रामीणों ने हंगामा किया तो पुलिस जायजा लेने मौके पर पहुंची और अब आरोपियों को पकड़ने में लापरवाही कर रही है.

इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी में जितनी देरी हो रही है राजनीति उतनी ही तेजी से हो रही है. इस मामले पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किया कि क्या इस घटना को चुनावी फायदे के लिए छिपाया गया, ताकि इस ‘कुशासन’ पर इस सुशासन की नींव रखी जा सके.



उन्होंने ट्वीट किया है कि किसका अपराध ज़्यादा ख़तरनाक है- जिसने ये अमानवीय कार्य किया? या जिसने चुनावी फ़ायदे के लिए इसे छुपाया गया ताकि इस कुशासन पर अपने झूठे 'सुशासन' की नींव रख सके?’’ वहीं आरजेडी के मुखिया तेजस्वी यादव ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार से सवाल पूछा है. तेजस्वी के पूछा कि जंगलराज का महाराज कौन? उन्होंने कहा कि बिहार में अपराधियों के हौंसले बुलंद हैं.
वैशाली में युवती को जलाने का मामला: तेजस्वी के निशाने पर सीएम नीतीश, पूछा- जंगलराज का महाराजा कौन?

क्या है पूरा मामला
आरोप है कि छेड़खानी का विरोध करने पर तीन युवकों ने युवती पर मिट्टी का तेल फेंक कर आग लगा दी थी, जिसके चलते युवती बुरी तरह झुलस गई थी. इसके बाद युवती को गंभीर अवस्था में पीएमसीएच में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान युवती ने दम तोड़ दिया था.

आरोपी परिवार समेत फरार
घटना के बाद से आरोपी और उसके परिवार के लोग घर में ताला बंद करके फरार हो गये हैं. घटना के 15 दिन बीत गये हैं, लेकिन अभी तक पुलिस इस मामले में एक भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है. पुलिस का कहना है कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें गठित की गई हैं और लगातार छापेमारी की जा रही है. फिलहाल मामले की गंभीरता को देखते हुए मौके पर पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है.



वैशाली के एसपी मनीष कुमार ने बताया कि घटना बीते 30 अक्टूबर की है. वहीं इस मामले में तीन आरोपियों के खिलाफ 2 नवंबर को केस दर्ज किया गया था और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस का विशेष दल का गठन किया गया है. एसपी ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी को लिए कोर्ट से वारंट प्राप्त कर लिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज