बिहार: बहुचर्चित मझुवा कांड के बाद खपड़ा पंचायत में एक बार फिर भीषण डकैती

थाना प्रभारी सुनील कुमार सुमन ने बताया कि  करीब 12 की संख्या में डकैतों ने घटना को अंजाम दिया है.

थाना प्रभारी सुनील कुमार सुमन ने बताया कि करीब 12 की संख्या में डकैतों ने घटना को अंजाम दिया है.

Purnia News: पीड़ित हबीबुल रहमान ने बताया कि रात के 12:00 बजे करीब 12 से 15 की संख्या में हथियार से लैस डकैत उनके घर में घुस गए. डकैतों ने उनके साथ मारपीट भी की. इसके बाद घर में रखे नगद दो लाख समेत गहना और जेवर भी लूट लिया.

  • Share this:

पूर्णिया. पूर्णिया के बायसी थाना के खपड़ा पंचायत अंतर्गत मथुरापुर गांव में एक ही परिवार के चार घरों में डकैतों ने भीषण डकैती पड़ी. रात के करीब 12:00 बजे 15 की संख्या में डकैत उनके घर पहुंचे और परिवार के लोगों को बांधकर डकैतों ने हसीबुल रहमान और उनके तीन बेटों के घर से करीब दो लाख नगद समेत पांच लाख की संपत्ति लूट ली. सूचना मिलते ही बायसी के थाना प्रभारी सुनील कुमार सुमन मौके पर पहुंचे और जांच में जुट गई है. पीड़ित हबीबुल रहमान ने बताया कि रात के 12:00 बजे करीब 12 से 15 की संख्या में हथियार से लैस डकैत उनके घर में घुस गए. घर के पुरुषों के हाथ बांध दिए और उनके साथ मारपीट भी की. इसके बाद घर में रखे नगद दो लाख समेत गहना और जेवर लूट लिया और चलते बने.

पंचायत के सरपंच प्रतिनिधि ने कहा कि जब से इस इलाके में मझुवा कांड हुआ है, तब से सभी आरोपी फरार हैं. वे लोग ही छुपकर इस तरह की घटना को अंजाम दे रहे हैं. पुलिस जल्द उन बचे हुए सभी आरोपियों की गिरफ्तारी करें. ताकि क्षेत्र में इस तरह की घटना ना हो सके. थाना प्रभारी सुनील कुमार सुमन ने बताया कि करीब 12 की संख्या में डकैतों ने घुसकर डकैती की घटना को अंजाम दिया है. पीड़ितों के द्वारा आवेदन दिया जा रहा है. फिलहाल सभी आरोपी फरार हैं. उन्होंने कहा कि जल्द सभी आरोपी की गिरफ्तारी कर ली जाएगी.

गौरतलब है कि इसी खपड़ा पंचायत के मझवा गांव में बीते 19 मई को एक समुदाय के सैकड़ों लोगों ने महादलितों की बस्ती में आग लगा दी थी और तेरह घर जला दिए थे. इस दौरान एक रिटायर्ड चौकीदार की भी पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. जबकि महिलाओं के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज