लाइव टीवी

न्यूजीलैंड से बिहार आकर किया पालतू कुत्ते का अस्थि विसर्जन और तर्पण, देंगे भंडारा
Patna News in Hindi

Rajendra Pathak | News18Hindi
Updated: February 19, 2020, 6:25 PM IST
न्यूजीलैंड से बिहार आकर किया पालतू कुत्ते का अस्थि विसर्जन और तर्पण, देंगे भंडारा
बिहार के पूर्णियां के रहने वाले प्रमोद चौहान ने गया में जाकर अपने प्यारे साथी के लिए तर्पण भी किया.

न्यूजीलैंड (New Zealand) में रहने वाले बिहार (Bihar) के प्रमोद चौहान ने अपने पालतू कुत्ते (Pet Dog) की मौत के बाद वहीं उसका दाह संस्कार किया और पटना आकर उन्होंने गंगा में उसकी अस्थि विसर्जन की. इसके अलावा उन्होंने गया में अपने प्यारे साथी के लिए तर्पण भी किया

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2020, 6:25 PM IST
  • Share this:
पूर्णिया. भारतीय संस्कृति (Indian Culture) की मान्यताओं के मुताबिक लोग अपने पूर्वजों को सम्मान देने के लिए धार्मिक कर्मकांड करते हैं. इस दौरान पितरों को तर्पण देने की परंपरा का पालन भी किया जाता है. लेकिन न्यूजीलैंड में रहने वाले बिहार (Bihar) के एक शख्स ने अपने पालतू कुत्ते की मौत के बाद जो किया, वह पशु प्रेम का अद्भुत उदाहरण है. बिहार के पूर्णिया के रहने वाले प्रमोद चौहान ने अपने पालतू कुत्ते की मौत के बाद उसका दाह संस्कार (Cremation) तो न्यूजीलैंड में ही किया. लेकिन उसके बाद पटना आकर गंगा में अस्थि विसर्जन किया. यही नहीं प्रमोद चौहान ने गया जाकर अपने प्यारे साथी के लिए तर्पण भी किया. वे तर्पण के 30 दिनों के बाद भंडारा भी करने जा रहे हैं.

10 साल तक लाइकन रहा था साथ
पूर्णिया के मधुबनी मुहल्ले के निवासी प्रमोद चौहान लंबे समय से न्यूजीलैंड में रह रहे हैं. वहां उन्होंने एक कुत्ता पाल रखा था, जिसका नाम लाइकन था. लेकिन 10 साल के बाद लाइकन की मौत हुई. उनके परिवार के लोगों ने परिवार का हिस्सा रहे लाइकन की याद में हिन्दू रीति के साथ उसकी अस्थियों को गंगा में प्रवाहित किया. इसके बाद वे गया पहुंचे, जहां उसका पिंडदान और श्राद्ध किया गया.

इंसानियत को किया जा रहा सलाम



प्रमोद चौहान के इस पशुप्रेम के प्रसंग पर उनके परिचित प्रकृतिप्रेमी काफी प्रसन्न हैं और पूर्णिया में जो भी उनकी यह कहानी सुन रहा है वह उनकी इंसानियत को सलाम कर रहा है. स्थानीय लोगों का मानना है कि इन्होंने पशुप्रेम का एक खास उदाहरण पेश किया है. उनके पारिवारिक मित्र इसे पशुप्रेम का अद्भुत प्रसंग बता रहे हैं. वहीं इसे मानवता के लिए प्रेरक भी बताया जा रहा है.



ये भी पढ़ें : 

CM पद की दावेदारी से मुकरे शरद यादव, बोले- बिहार में तेजस्वी विपक्ष का चेहरा

ब्रह्मेश्वर मुखिया के हत्यारों का सुराग देने वाले को 10 लाख का इनाम देगी CBI
First published: February 19, 2020, 2:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading