COVID-19: राजस्थान से आया युवक घंटों तक करता रहा जांच के लिये इंतजार, SDO ने मेडिकल टीम भेज की मदद
Purnia News in Hindi

COVID-19: राजस्थान से आया युवक घंटों तक करता रहा जांच के लिये इंतजार, SDO ने मेडिकल टीम भेज की मदद
राजस्थान से लौटा सरोज कुमार (फाइल फोटो)

इस युवक की सहायता के लिये जब कोई नहीं आया तो न्यूज18 की टीम ने उसकी मदद करने की सोची और SDO से इस पूरे मसले को बताया.

  • Share this:
पूर्णिया. एक ओर जहां बाहर से मजदूर चोरी-छिपे अपने-अपने गांव आ रहे हैं और पुलिस से छिपकर घरों में रह रहे हैं. वहीं एक ऐसा शख्स भी है जिसके यह साबित कर दिया कि वह कोरोना को लेकर कितना जागरूक है. यह शख्स अपने स्वास्थ्य जांच (Health Checkup) को लेकर इतना सचेत था कि खुद ही क्वारंटाइन (Quarantine) होने ने लिये घंटों तक स्कूल के बाहर खड़ा रहा. यह नजारा देखकर गांव के सभी लोग दंग रह गये. लेकिन मुश्किल तब आन पड़ी जब पता चला है स्कूल में हैल्थ चैकअप करने वाला कोई भी नहीं है. जब स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने जब इसकी सूचना बायसी के बीडीओ को दी तो वे भी इस बात का जवाब नहीं दे पाए कि स्कूल में कोई भी स्वास्थ्य अधिकारी क्यों नहीं है. बाद में न्यूज18 की मदद से युवक को दूसरी जगह भेजा गया जहां उसका चैकअप करके उसे क्वारंटाइन में डाला गया.

SDO ने भिजवाया वाहन
दरअसल, इस युवक की सहायता के लिये जब कोई नहीं आया तो न्यूज 18 की टीम ने उसकी मदद करने की सोची और SDO से इस पूरे मसले को बताया. इसके बाद SDO ने मेडिकल सुविधाओं वाला वाहन हरिरामपुर गांव के स्कूल में भेजा और युवक की बायसी अनुमंडल अस्पताल लाकर जांच की गई और उसे स्थानीय हाईस्कूल में सबकुछ ठीक होने के बाद क्वारंटाइन में डाल दिया गया. युवक सरोज कुमार के पिता जागो विश्वास ने सभी लोगों के प्रति शुक्रिया अदा किया.

अन्य मजदूरों के साथ राजस्थान से आया था युवक
युवक के पिता जागो विश्वास ने बताया कि उनका बेटा सरोज कुमार अन्य मजदूरों के साथ राजस्थान के अलवर से ट्रक पर आया था और बाकी मजदूर अपने अपने गांव निकल गए थे जबकि उसने अपनी जांच कराने की ठानी थी. युवक के इस कदम से जहां पूरे गांव में जागरूकता बढ़ी तो वहीं, उसके पिता ने मदद के लिये न्यूज18 का आभार जताया.



ये भी पढ़ें: Lockdown: पटना में शीर चाय की चुस्की के बिना फीका पड़ रहा 2020 का रमजान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज