लाइव टीवी

Corona संक्रमण के दौर में लोगों की राेग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा रहा है काढ़ा
Purnia News in Hindi

Rajendra Pathak | News18 Bihar
Updated: May 19, 2020, 5:45 PM IST
Corona संक्रमण के दौर में लोगों की राेग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा रहा है काढ़ा
कोरोना काल में पूर्णिया में काढ़ा कल्चर को मिल रहा बढ़ावा.

आयुर्वेद के अनुसार इन वनस्पति उत्पादों के मिश्रण से तैयार काढ़े से रोग प्रतिरोधक क्षमता में जबरदस्त वृद्धि होती है.

  • Share this:
पूर्णिया. भारतीय खानपान संस्कृति का एक महत्वपूर्ण पेय है काढ़ा. साथ ही यह भारतीय प्राकृतिक और परंपरागत चिकित्सा की आजमाई हुई घरेलू और आयुर्वेदिक औषधि (Ayurvedic medicine) भी है. काढ़े का निर्माण विभिन्न प्राकृतिक तत्वों, पत्तों, छालों और मसालों के साथ किया जाता है जो विभिन्न रोगों अथवा रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए कारगर होते हैं.  कुछ काढ़े स्वादिष्ट भी हो सकते हैं और कुछ कसैले स्वाद के भी. पर काढ़ा सेवन हर हाल में फायदेमंद होता है. काढ़ाें का उपयोग भारतीय परिवारों में काफी पहले से होता आ रहा है, लेकिन नए दौर में हम इसके घरेलू  इस्तेमाल को भूल रहे थे. लेकिन, कोरोना वायरस (Coronavirus) ने इस काढ़ा की अहमियत एक बार फिर लोगों को बता दी है और लोग इसे नियमित तौर पर इस्तेमाल करने लगे हैं.

पूर्णिया में काढ़ा कल्चर को बढ़ावा

बिहार के पूर्णिया में कुछ परंपरागत चिकित्सा और खेती से जुडे लोगों ने काढ़ा के सेवन को पूरे लॉकडाउन के दौरान खुद तो नियमित रखा ही अपने से जुड़े बीसियों लोगों को काढ़ा सेवन के लिए प्रेरित किया.  आयुर्वेदाचार्य उमेश मिश्र और जैविक किसान हिमकर मिश्र ने बताया कि हल्दी, गिलोय, अगस्त और कदम्ब के काढ़े बनाए और उसके प्रभाव का लाभ लिया है. तुलसी और आजावाइन के काढ़ाें को नियमित बनाकर खुद भी लाभ लिया और दूसरों को भी इसके सेवन के लिए प्रेरित किया.



रोग प्रतिरोधक क्षमता



आयुर्वेद के अनुसार इन वनस्पति उत्पादों के मिश्रण से तैयार काढ़े से रोग प्रतिरोधक क्षमता में जबरदस्त वृद्धि होती है. ऐसे में ये व्यक्ति को कोरोना जैसे संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है. गौरतलब है कि आयुष मंत्रालय ने भी लॉकडाउन के दौरान लोगों से काढ़ा पीने की अपील की थी.

भारतीय खान- पान में काढ़ा अनिवार्य अंग माना जाता रहा है. यह भी साबित हुआ तथ्य है कि इसके सेवन से रोग प्रतिरोधन की क्षमता भी बढ़ती है. हालांकि आधुनिक दौर में हम अपने ही इस कल्चर से विमुक होते जा रहे थे, लेकिन कोरोना के दौरान औषधीय गुण और रोग प्रतिरोधक क्षमता के तौर पर काढ़ा पीने की परंपरा ने लोगों के बीच फिर अपनी जगह बना ली है.

ये भी पढ़ें: Lockdown: बाहर फंसे लोगों को लाने के लिए बनेगा पास, बिहार सरकार ने बदला नियम

...तो क्या योगी आदित्यनाथ की 'दरियादिली' ने CM नीतीश के लिए खड़ी कर दी बड़ी मुश्किल?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पूर्णिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 19, 2020, 3:43 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading