• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • बेटी को जान से मारने के लिए बाप ने दी 60 हजार रुपए की सुपारी, पढ़ें क्या है पूरा मामला ?

बेटी को जान से मारने के लिए बाप ने दी 60 हजार रुपए की सुपारी, पढ़ें क्या है पूरा मामला ?

pradesh18.com

pradesh18.com

पुलिस को दिए बयान में पिता ने बताया की बेटी के बार-बार भागने से समाज में उनकी प्रतिष्ठा पर असर हो रहा था इसलिए उसने अपने रिश्ते के एक साले को 60 हजार में गुड़िया को मारने की सुपारी दी थी

  • Share this:
मधेपुरा जिला के चौसा थाना क्षेत्र में झूठी शान की खातिर पिता ने बेटी की सुपारी देकर हत्या करवा दी.

जिले के सीमावर्ती थाना क्षेत्र चौसा में बीते 3 जुलाई की सुबह एक अज्ञात लड़की बेहोशी की हालत में मिली थी. उसे गला दबा कर मारने का प्रयास किया गया था. बाद में पता चला था की उसे जहर भी दिया गया था.

5 दिनों तक जिंदगी और मौत से जूझने के बाद आखिरकार उसकी मौत हो गई. गुड़िया की मौत सभी के लिए एक रहस्य बनी हुई थी लेकिन 20 दिन बाद पुलिस ने इस रहस्य से पर्दा उठा दिया और जो सच्चाई सामने आई वह भी चौकानेवाली है.

गुड़िया के बारे में बताया गया कि वो फरवरी 2016 को घर से अपने कथित प्रेमी के साथ भाग गई थी. कई महीने बाद 4 जून को वो वापस घर आई लेकिन 21 जून को वो फिर से गायब हो गई जिसके बाद 3 जुलाई को बेहोशी कि हालत में चौसा थाना क्षेत्र के पारसी में सड़क किनारे पोखर में फेंकी मिली.

पुलिस को दिए बयान में पिता ने बताया की गुड़िया के बार-बार भागने से समाज में उनकी प्रतिष्ठा पर असर हो रहा था इसलिए उसने अपने रिश्ते के एक साले को 60 हजार में गुड़िया को मारने की सुपारी दे दी.

गुड़िया बचपन से शंकरपुर थाना क्षेत्र में अपने-नाना नानी के साथ रहती थी. बताया जाता है कि गांव के दूसरी जाति के उसके एक सहपाठी से मधुर संबंध थे. यहाँ तक की गुड़िया अपने आधार कार्ड बनवाने के लिए भी उसी का मोबाइल नंबर दी थी.

कथित प्रेमी के साथ गुड़िया का संबंध परिवार वालों को नागवार गुजरा. जब गुड़िया गंभीर हालत में अस्पताल लाई गई थी तो उसने पुलिस को अपनी कुछ पहचान बताया था. चुकी गला दबने के कारण गुड़िया कुछ बोल नहीं पा रही थी इसलिए कुछ स्पष्ट नहीं हो रहा था.

फिर भी पुलिस दो दिन बाद उसके परिवार का पता लगा ही ली और उससे संपर्क किया, लेकिन परिवारवाले गुड़िया से मिलने से कतरा रहे थे. पुलिस के दबाव में वे गुड़िया से मिलने तो पहुंचे लेकिन गुड़िया की हालत बिगड़ती गई और आखिरकार 5 दिन बाद डीएमसीएच, दरभंगा में उसकी मौत हो गई. जिसके बाद पुलिस ने पिता के बयान पर उसके कथित प्रेमी और अन्य 3 के खिलाफ मामला दर्ज किया था. लेकिन पुलिसिया अनुसन्धान में यह मामला ऑनर किलिंग का निकला.

गुड़िया की मौत हमारे समाज की उस सोच को बयां करती है. जिसमे जाति और परम्परा के बंधन में जकड़े लोग न तो प्रेम को पचा पाते हैं तो अंतरजातीय प्रेम संबंध को स्वीकार करना तो दूर की कौडी है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज