लाइव टीवी

बिहार: इस जिले के किसान 1 एकड़ में कमा रहे 1 लाख रुपये, कहने लगे-उत्तम खेती, मध्यम बान...

News18 Bihar
Updated: October 26, 2019, 2:07 PM IST
बिहार: इस जिले के किसान 1 एकड़ में कमा रहे 1 लाख रुपये, कहने लगे-उत्तम खेती, मध्यम बान...
बिहार के पूर्णिया के धमदाहा प्रखंड में करीब 50 किसान फूलों की खेती करते हैं.

किसानों की मानें तो उन्हें इस खेती से एक सीजन में एक एकड़ में करीब एक लाख रुपये का मुनाफा हो जाता है.

  • Share this:
पूर्णिया. कहावत है- उत्तम खेती मध्यम बान, अधम चाकरी, भीख निदान. यानि इन सभी पेशे में खेती (Cultivation) ही सबसे उत्तम है. प्राचीन काल से प्रचलित इस कहावत को आधुनिक समय में भी सफल कर रहे हैं पूर्णिया जिले के धमदाहा प्रखंड (Dhamdaha block in Purnia) के किसान. दरअसल जमाने के अनुसार यहां के किसान भी अब अपनी खेती का ट्रेंड बदलने लगे हैं. अब वे परंपरागत फसलों के साथ ही नकदी फसलों की खेती भी बड़े पैमाने पर कर रहे हैं. इनमें एक बड़ा अवसर जो सामने आया है वह है फूलों की खेती (Flower cultivation).

50 किसान कर रहे फूलों की खेती
पूर्णिया के धमदाहा अनुमंडल के सैकडों किसानों फूलों की खेती से जुड़ चुके हैं. सबसे खास ये कि ये महिला सशक्तिकरण के लिए भी एक बड़ा माध्यम बनता जा रहा है. दरअसल इस खेती में महिलाएं भी पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर जुड़ गई हैं और अच्छी आय कर पा रही हैं. धमदाहा के डुमरिया गांव में करीब 50 किसान 40 एकड़ जमीन में गेंदा फूल की खेती कर रहे हैं.

फूलों की खेती से न सिर्फ लोगों की आय बढ़ी है बल्कि इससे महिला सशक्तिकरण को भी बल मिला है.


किसानी में वैल्यू एडिशन से मुनाफा
महिला किसान संगीता देवी कहती हैं कि उन्होंने भी करीब एक एकड़ में गेंदा फूल की खेती की है. वह बताती हैं कि खेती के साथ ही वह इसमें वैल्यू एडिशन करती हैं फूल तोड़कर माला गूंथती हैं. उनके पति उसे बाजार में बेचते हैं जिससे उन्हें अच्छा मुनाफा हो जाता है. संगीता देवी ने बताया कि एक साल में वह चार तरह की फूलों की खेती करती हैं.

ऑनलाइन भी होती है फूलों की बिक्री
Loading...

स्थानीय वार्ड सदस्य औऱ इलाके में फूलों की खेती की शुरुआत करने वाले अजय दास कहते हैं कि अब वे लोग ऑनलाइन भी फूलों की बिक्री करते हैं जिससे अच्छा मुनाफा होता है. उन्होंने कहा कि फूलों की खेती से उनके गांव की सैकडों महिलाएं जुड़ गई हैं. उन्हें रोजगार के साथ अच्छी आमदनी हो रही है.

इस बार आई बाढ़ ने किसानों के लिए मुश्किल हालात पैदा कर दिए हैं. वे सरकार से मदद की उम्मीद में हैं.


एक एकड़ में एक लाख का लाभ
फूलों की खेती करने वाले किसानों की मानें तो उन्हें इस खेती से एक सीजन में एक एकड़ में करीब एक लाख रुपये का मुनाफा हो जाता है. किसान राज कुमार दास, अजीत दास और प्रदीप सरकार ने कहा कि यह आय का बेहतर विकल्प है. हालांकि इस बार बाढ़ ने उन लोगों के फूलों की खेती को नुकसान पहुंचाया है ऐसे में किसान चाहते हैं कि कुछ सरकारी मदद मिल जाए तो फिर स्थिति बेहतर हो जाएगी.

रिपोर्ट- कुमार प्रवीण

ये भी पढ़ें- 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पूर्णिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 26, 2019, 2:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...