लाइव टीवी

ग्रेजुएट युवाओं में नहीं दिख रहा स्नातक निर्वाचन का उत्साह, सिर्फ 4 हजार नए वोटरों ने दिए आवेदन

Rajendra Pathak | News18 Bihar
Updated: November 22, 2019, 10:23 PM IST
ग्रेजुएट युवाओं में नहीं दिख रहा स्नातक निर्वाचन का उत्साह, सिर्फ 4 हजार नए वोटरों ने दिए आवेदन
पूर्णिया में स्नातक निर्वाचन के लिए नए वोटरों में नहीं दिख रहा उत्साह. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बिहार (Bihar) में स्नातक निर्वाचन (Graduate Constituency Election) की कवायद शुरू हो गई है, लेकिन पूर्णिया (Purnia) और सहरसा (Saharsa) प्रमंडल के जिलों में नए स्नातक मतदाताओं में इस चुनाव के लिए उत्साह में कमी बनी चिंता का कारण. ग्रेजुएट मतदाताओं में जागरूकता की कमी को वजह बता रहे जानकार.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 22, 2019, 10:23 PM IST
  • Share this:
पूर्णिया. आप ग्रेजुएट हो सकते हैं, मगर स्नातक निर्वाचन (Graduate Constituency Election) के वोटर क्यों नहीं? ये सवाल इन दिनों पूर्णिया (Purnia) और सहरसा (Saharsa) प्रमंडल में चर्चा का विषय बना हुआ है. कोसी स्नातक निर्वाचन विधान परिषद चुनाव (Kosi Graduate Constituency Election) की तारीख तय होने के पहले मतदाता सूची (Voter List) निर्माण का काम अंतिम चरण में है. एक अक्टूबर से 30 दिसंबर के बीच मतदाता सूची बनाने की प्रक्रिया पूर्णिया और सहरसा प्रमंडल सहित आसपास के अन्य कुल 14 जिलों में जारी है. 6 नवंबर तक इसके लिए नए वोटरों के आवेदन (New Graduate Voter) लिए गए और 9 दिसंबर तक नई मतदाता सूची छपने के पहले भूल सुधार के लिए आपत्तियां मांगी गई हैं. मगर इस चुनाव में वोटर बनने के लिए अभी तक 4 हजार से कुछ ज्यादा आवेदन ही आए हैं. ऐसे में राजनीति के जानकार चिंता जता रहे हैं कि आखिर ग्रेजुएट मतदाताओं में इस चुनाव के प्रति उत्साह क्यों नहीं दिख रहा है.

1 लाख से ज्यादा वोटर
पूर्णिया प्रमंडल के आयुक्त कोसी विधान परिषद स्नातक सीट के लिए चुनाव पदाधिकारी होते हैं. आयुक्त के निर्देश पर कोसी स्नातक निर्वाचन के लिए वोटर लिस्ट बनाने की प्रक्रिया जारी है. 30 दिसंबर तक अंतिम मतदाता सूची का प्रकाशन होना है. इस बार सिर्फ 4396 नए स्नातकों ने मतदाता बनने के लिए आवेदन किया है. जबकि पिछले चुनाव में इस क्षेत्र से कुल 1 लाख 19 हजार 286 वोटर ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था. ऐसे में नए वोटर बनने को लेकर स्नातकों में उत्साह की कमी, राजनीति के जानकारों को चिंतित कर रही है.

ऑनलाइन बन रहे वोटर

कोसी विधान परिषद चुनाव कार्य से जुड़े पूर्णिया प्रमंडल के निर्वाचन कार्य पदाधिकारी डॉ. रामलला सिंह कहते हैं कि कोसी स्नातक चुनाव के लिए बन रही मतदाता सूची पहली बार ऑनलाइन तरीके से बन रही है. इस चुनाव में ज्यादा से ज्यादा स्नातक, मतदाता बन सकें, इसलिए पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन की गई है. इस प्रयोग से चुनाव लड़ने वाले प्रतिनिधियों द्वारा ही अपने हिसाब से स्नातकों को वोटर बनाने की प्रक्रिया में बदलाव आया है. ऑनलाइन वोटर व्यवस्था की भारत निर्वाचन आयोग ने भी प्रशंसा की है. उन्होंने बताया कि कोसी स्नातक क्षेत्र में अब तक कुल 163 बूथों पर मतदान होते रहे हैं. अगर वोटरों की संख्या बढ़ेगी तो बूथ भी बढ़ाए जाएंगे.

जानकारों ने बताई वजह
स्नातक निर्वाचन को लेकर ग्रेजुएट पास युवाओं में वोटर बनने के प्रति उत्साह में कमी को लेकर जानकार कई कारण गिनाते हैं. इसके तहत मताधिकार हासिल करने में अनिच्छा की कमी एक बड़ी वजह हो सकती है. जानकारों के मुताबिक अभी तक इस चुनाव के उम्मीदवार ही अपने हिसाब से वोटर बना लेते थे. इससे कई बार निष्पक्षता को लेकर सवाल उठते थे. इस बार वोटर बनने की प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी गई है, हो सकता है कि उम्मीदवारों का इस काम में रुचि न लेना भी एक कारण हो. कुछ जानकारों का यह भी कहना है कि स्नातकों में उत्तरदायित्वबोध का अभाव भी एक वजह हो सकती है. ज्यादातर स्नातक अब पढ़ाई के बाद रोजगार की तलाश में लग जाते हैं. ऐसे में इस चुनाव के प्रति उनका रुझान नहीं होता. वहीं कुछ लोगों का मानना है कि ऑनलाइन वोटर बनाने की प्रक्रिया की जानकारी न होना भी एक बड़ी वजह हो सकती है.
Loading...

ये भी पढ़ें -

रात के आठ बजे ही व्यवसायी के घर में घुसे डकैत, शादी से पहले ही लूट ले गए गहने और कैश

पूर्णिया में राशन की दुकानों में भी करिए कैशलेस पेमेंट, डीलरों ने ले ली है ट्रेनिंग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पूर्णिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2019, 10:23 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...