होम /न्यूज /बिहार /गजब का जज्‍बा: 42 की उम्र में 44 बार रक्तदान, अब युवाओं से ये अपील कर रहे हैं कार्तिक चौधरी

गजब का जज्‍बा: 42 की उम्र में 44 बार रक्तदान, अब युवाओं से ये अपील कर रहे हैं कार्तिक चौधरी

पूर्णिया के रहने वाले कार्तिक चौधरी महज महज 42 साल की उम्र में अब तक 45 बार रक्तदान कर चुके हैं. 2002 में उन्‍होंने पहल ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट: विक्रम कुमार झा

    पूर्णिया. खून की कमी से कई लोगों की मौत हो जाती है, तो कई लोगों को समय पर खून उपलब्ध नहीं होता है. ऐसे में पूर्णिया के कार्तिक चौधरी ने लोगों की जान बचाने का बीड़ा उठाया है. वह मात्र 42 की उम्र में 45 बार रक्तदान कर चुके हैं. वह 2003 से लगातार ब्लड डोनेट करते आ रहे हैं. इसके अलावा एक सामाजिक संस्था बनाकर पूर्णिया के कई युवाओं को जोड़कर समय-समय पर रक्तदान कैंप लगाकर लोगों को नि:शुल्क रक्त उपलब्ध करवाते हैं. इस नेक कार्य के लिए उनको कई बार राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित भी किया जा चुका है.

    पूर्णिया के रक्तवीर कार्तिक चौधरी ने कहा कि स्वैच्छिक रक्तदान हर किसी को जरूर करना चाहिए, ताकि किसी लाचार और जरूरतमंद को रक्त आसानी से मिल सके. समय रहते उसकी जान बचाई जा सके. साथ ही साथ उन्होंने कहा कि रक्तदान करने से किसी भी तरह की शारीरिक परेशानी नहीं होती है. कोई भी स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है. रक्तदान करते रहने से शरीर में नए तरह के कोशिकाओं का निर्माण भी होता है. रक्त का संचालन और प्रवाह भी काफी अच्छी होता है. शरीर में किसी भी तरह की कमजोरी नहीं होती.

    लोगों को जागरूक करके 5000 यूनिट रक्तदान करवाया
    कार्तिक चौधरी ने कहा कि लोगों को जरूरत पड़ने पर बाजार से खून नहीं मिल पाता है. रक्त की जरूरत पर सिर्फ रक्तदान से पूरा हो सकती है. इसलिए आप स्वैच्छिक रक्तदान करके किसी जरूरतमंद की जान बचा सकते हैं. वहीं, वह रक्तदान करते हुए कई समाज सेवा संगठन का भी निर्माण करवा रहे हैं. साथ ही प्रखंड स्तरीय एवं जिला स्तरीय कई टीमों का गठन भी किया है. टीम में युवाओं के द्वारा लोगों को रक्तदान के लिए जागरूक किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि लोगों को जागरूक करके लगभग 5000 यूनिट रक्तदान करवाया.

    मन में भ्रांतियां फैली हुई है, जिसके कारण…
    कार्तिक चौधरी ने युवा और अन्य लोगों से अपील करते हुए कहा कि रक्तदान करने को लेकर मन में किसी तरह की कोई आशंका नहीं पालें. खासकर युवाओं से अपील करना चाहता हूं कि साल में कम से कम तीन बार रक्तदान कर सकते हैं. इससे किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होती है. यह मेडिकली भी प्रमाणित है.

    Tags: Bihar News, Blood Donation, Purnia news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें