लाइव टीवी

Lockdown: स्किल के आधार पर काम दे रहा बिहार का ये जिला, घर बैठे कमाई कर रहे केरल से लौटे 73 प्रवासी दर्जी 
Purnia News in Hindi

KUMAR PRAVIN | News18 Bihar
Updated: May 20, 2020, 10:21 PM IST
Lockdown: स्किल के आधार पर काम दे रहा बिहार का ये जिला, घर बैठे कमाई कर रहे केरल से लौटे 73 प्रवासी दर्जी 
केरल से आये 73 प्रवासी दर्जियों को अपने जिले पूर्णिया में ही मिला रोजगार.

पूर्णिया (Purnia) के जिलाधिकारी (डीएम) ने क्वारंटाइन (Quarantine) अवधि पूरा कर चुके 73 प्रवासी दर्जियों को स्किल के अनुसार मास्क बनाने का जिम्मा सौंपा है. इसके अलावा अन्य प्रवासी लोगों को भी स्किल के अनुसार काम दिया जा रहा है

  • Share this:
पूर्णिया. देश के अलग-अलग राज्यों से बिहार (Bihar) के पूर्णिया आये प्रवासी दर्जियों द्वारा बनाये गये मास्क सस्ते दर पर सरकारी विभागों से लेकर आम आदमी को उपलब्ध होंगे. पूर्णिया के जिलाधिकारी (डीएम) ने क्वारंटाइन (Quarantine) अवधि पूरा कर चुके 73 प्रवासी दर्जियों को स्किल के अनुसार मास्क बनाने का जिम्मा सौंपा है. इसके अलावा अन्य प्रवासी लोगों को भी स्किल के अनुसार काम दिया जा रहा है. दरअसल पूर्णिया (Purnia) के श्रीनगर प्रखंड के पंचायत भवन में केरल के एर्नाकुलम (Ernakulam) से आये ये सभी 73 लोग दर्जी हैं जो मास्क बनाने का काम कर रहे हैं.

टेलर मास्टर मोहम्मद हाकिब ने कहा कि वो लोग केरल में कपड़ा फैक्ट्री में काम करते थे. कोरोनावायरस को लेकर फैक्ट्री बंद होने के बाद वो लोग वहां से आकर श्रीनगर में 14 दिन तक क्वारंटाइन में रहे. वापस लौटने पर उन सभी को बेरोजगारी की चिंता सता रही थी लेकिन पूर्णिया के डीएम के सहयोग से अब वो मास्क बनाने का काम कर रहे हैं. इससे न सिर्फ उन्हें काम मिल रहा है बल्कि अच्छी आमदनी भी हो रही है.

वहीं दर्जी मो. इसरायल ने कहा कि वो लोग प्रतिदिन करीब 50 मास्क बनाते हैं. 15 रुपये प्रति मास्क की दर से उन लोगों को पैसा मिलता है. अब उन्हें घर में ही रोजगार मिल रहा है तो वे बाहर क्यों जायें. यहां काम कर रहे दर्जियों ने कहा कि प्रशासन की ओर से उन लोगों को कपड़ा और मेटेरियल मिल रहा है. उन लोगों ने अपने-अपने घरों से मशीन मंगवाया है और एक जगह आकर मास्क बनाने का काम कर रहे हैं.



सरकारी विभागों से लेकर आम आदमी को सस्ते दरों पर मास्क दिए जाएंगे



श्रीनगर के बीडीओ ओमप्रकाश ने कहा कि फिलहाल पंचायती राज विभाग द्वारा 2,500 मास्क का ऑर्डर दिया गया है. आगे भी सरकारी विभागों से लेकर आम आदमी तक सस्ते दरों पर मास्क उपलब्ध कराये जायेंगे. वहीं पूर्णिया के डीएम राहुल कुमार ने कहा कि जिले में अब तक 35 हजार प्रवासी मजदूर आये हैं जो फिलहाल क्वारंटाइन सेंटरों में रह रहे हैं. क्वारंटाइन अवधि पूरा करने के दौरान इन लोगों का स्किल मैपिंग किया जाता है. इसके तहत श्रीनगर के 73 मजदूरों को मास्क बनाने का काम दिया गया है.

डीएम राहुल कुमार ने कहा कि आज से ये मजदूर मास्क बनाने का काम कर रहे हैं. इससे इन्हें रोजगार के साथ आमदनी भी हो रही है. उन्होंने कहा कि इसी तरह हर व्यक्ति को स्किल के अनुसार रोजगार से जोड़ा जायेगा.

ये भी पढ़ें-

बिहार: Corona Crisis के बीच क्यों हटाए गए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार? पढ़ें Inside Story

बिहार: पिता को साइकिल पर बिठा गुरुग्राम से दरभंगा ले आई थी 'श्रवण बिटिया', अब सम्मान करेगा जिला प्रशासन
First published: May 20, 2020, 8:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading