बिहार: पूर्णिया से अगवा हुए लोजपा नेता की हत्या, 10 लाख की वसूली थी फिरौती

बिहार के पूर्णिया से अगवा लोजपा नेता की हत्या (फाइल फोटो)

बिहार के पूर्णिया से अगवा लोजपा नेता की हत्या (फाइल फोटो)

Lok Janshakti Party Leader Murder In Bihar: रविवार को पुलिस ने के0 नगर थाना के डंगराहा से आदिवासी नेता अनिल उरांव का शव बरामद किया. अनिल उरांव के पीट-पीटकर और गोली मारकर हत्या कर दी गई है.

  • Share this:
पूर्णिया. बिहार के पूर्णिया से तीन दिन पहले अपहृत लोजपा के बड़े नेता अनिल उरांव की हत्या कर दी गई है. गुरुवार को शहर के सर्किट हाउस के पास से अनिल उरांव का अपहरण कर लिया गया था. अपहरणकर्ताओं ने उनके परिजनों से 10 लाख रूपये फिरौती की रकम भी वसूली इसके बावजूद लोजपा आदिवासी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष की बेरहमी से हत्या कर दी गई. हत्या से आक्रोशित लोगों ने शहर के सभी मुख्य मार्गों को जाम कर दिया है. आक्रोशित लोगों ने पुलिस की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की और आसपास की दुकानों को भी जबरन बंद करवाया है.

पूर्णिया के खजांची हाट थाना इलाके के आईजी रेसिडेंस के बगल से सर्किट हाउस के पास गुरुवार को लोजपा के आदिवासी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष सह कटिहार के मनिहारी विधानसभा से लोजपा प्रत्याशी रहे अनिल उरांव का अपहरण कर लिया गया था. रविवार को पुलिस ने के0 नगर थाना के डंगराहा से आदिवासी नेता अनिल उरांव का शव बरामद किया. अनिल उरांव के पीट-पीटकर और गोली मारकर हत्या कर दी गई थी और शव को डंगरहा के पास फेंक दिया गया था.

पुलिस शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए पूर्णिया लाई किन जब उनके परिजन और समर्थक मौके पर पहुंचे तो वे लोग काफी आक्रोशित हो गए. समर्थक शव को लेकर आरएनसाव चौक पर पहुंच गये. लोगों ने आरएनसाव चौक समेत शहर के सभी चौक चौराहों पर रोड जाम कर दिया है. अनिल उरांव के साथी शंकर ब्रह्मचारी ने कहा कि पुलिस की लापरवाही के कारण इस तरह की घटना हुई है. अपहरणकर्ताओं ने फिरौती की 10 लाख रुपये भी वसूल लिया इसके बाद भी उसकी हत्या कर दी.

उन्होंने कहा कि जिस दिन अनिल उरांव का अपहरण हुआ है उसी दिन उनकी हत्या कर दी गई थी. वे लोग प्रशासन से हत्यारे को सामने लाने की मांग कर रहे हैं. लोगों का कहना है कि अगर पुलिस समय पर सचेत होती तो शायद अनिल उरांव को बचाया जा सकता था. उन्होंने थाना प्रभारी पर उचित कार्रवाई की मांग की है .
घटना की सूचना मिलते ही लोजपा के राष्ट्रीय महासचिव शंकर झा बाबा भी आर एन साव चौक पहुंचे . उन्होंने परिजनों से मिलकर उन्हें सांत्वना दिया. शंकर झा ने कहा कि जमीन को लेकर अनिल उरांव की हत्या की गई है. उन्होंने कहा कि वे लोग कल भी एसपी से मिले थे और एसपी ने आश्वासन दिया था. लेकिन पुलिस अनिल उरांव को बचा नहीं पाए. उन्होंने कहा कि इस मामले में दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. उसकी निशानदेही पर ही शव को बरामद किया गया है.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस मामले में दो आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और एक महिला को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है. गिरफ्तार दोनों आरोपी से पूछताछ के बाद उनकी निशानदेही पर ही शव को बरामद किया गया है फिलहाल घटना के पीछे क्या कारण है इसकी जांच की जा रही है घटना के पीछे एक महिला से भी अनिल उरांव के संबंध की बात आ रही है जमीन विवाद के एंगल पर भी जांच की जा रही है अनिल उरांव जमीन की खरीद बिक्री भी करते थे फिलहाल पुलिस सभी एंगल पर जांच कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज