COVID-19: पूर्णिया के क्वारंटाइन सेंटर में जमकर शराब पार्टी कर रहे प्रवासी श्रमिक!
Purnia News in Hindi

COVID-19: पूर्णिया के क्वारंटाइन सेंटर में जमकर शराब पार्टी कर रहे प्रवासी श्रमिक!
बिहार के क्वारंटाइन सेंटर पर प्रवासी श्रमिक पी रहे शराब (सांकेतिक तस्वीर)

पूर्णिया के बेलौरी स्थित क्वारंटाइन सेन्टर (quarantine center) के एक वायरल वीडियो में प्रवासी श्रमिक पानी और माजा के बोतल में बाहर से शराब लाने की बात कह रहे हैं. शराब लाने वाले प्रवासी श्रमिक विनोद ऋषि और राजेश ऋषि ने खुद स्वीकार किया कि उन लोगों ने बाहर से शराब लाई है

  • Share this:
पूर्णिया. जनपद के क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center)  पर जमकर चल रही है शराब पार्टी. एक तरफ जहां बिहार राज्य में नितीश सरकार (Nitish government) ने शराब बंदी कर रखी है ऐसे में बिहार के क्वारंटाइन सेंटर में क्वारंटाइन किए गए प्रवासी कामगारों द्वारा शराब लाकर पीने के आरोप अचरज में डालते हैं. ये मामला पूर्णिया के मुफस्सिल थाना के बेलौरी स्थित अंचित शाह उच्च विद्यालय के क्वारंटाइन सेंटर का है. इस सेंटर पर आये कुछ प्रवासी श्रमिक जो क्वारंटाइन में रह रहे हैं. उन लोगों पर आरोप है कि ये क्वारंटाइन सेंटर में शराब लाकर पीते हैं और उत्पात काटते हैं.

शराब पीने से कोरोना ठीक हो जाता है
पूर्णिया के बेलौरी स्थित क्वारंटाइन सेन्टर के एक वायरल वीडियो में प्रवासी श्रमिक पानी और माजा के बोतल में बाहर से शराब लाने की बात कह रहे हैं. शराब लाने वाले प्रवासी श्रमिक विनोद ऋषि और राजेश ऋषि ने खुद स्वीकार किया कि उन लोगों ने बाहर से शराब लाई है. हद तो तब हो गयी जब शराब के नशे में चूर एक प्रवासी श्रमिक विनोद ऋषि ने कहा कि पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि शराब पीने से कोरोना ठीक हो जाता है, इसीलिये वे लोग शराब पी रहे हैं. यह पूछने पर कि वो शराब कैसे लाये तो प्रवासी कामगार विनोद ऋषि ने कहा कि वहां रुके प्रवासी राजेश समेत दो लोगों ने उन्हें रुपया दिया था इसके बाद वो बाहर से शराब लाया. वहीं राजेश ऋषि ने भी स्वीकार किया कि उसने शराब के लिये विनोद को सौ रुपये दिये थे.

मामले की जांच चल रही है



इस मामले पर जब विद्यालय के क्वारंटाइन सेंटर प्रभारी हाफिज अहमद से बात की गई तो उनका कहना था कि उन्हें भी सेंटर पर शराब पीने की सूचना मिली तो इसकी जानकारी उन्होंने उच्चाधिकारियों को दी है. क्वारंटाइन सेंटर के गार्ड विजय कुमार और मो. अशफाक का कहना था उनकी तैनाती मेन गेट पर है उन्हें भी ये जानकारी मिली कि ये लोग पीछे की दीवार फांदकर बाहर जाते हैं. सूचना मिली थी कि कुछ लोगों ने बाहर से शराब लाकर पी है. उन लोगों ने इसकी सूचना मुफस्सिल थाना प्रभारी को दी थी. बिहार में शराबबंदी के बावजूद शराब मिलना और क्वारंटाइन सेंटर के प्रवासियों द्वारा शराब पीना दोनों ही हैरत में डालते हैं. फिलहाल आधिकरियों ने मामले की जांच की बात की है.



ये भी पढ़ें- पूर्णिया समेत सीमांचल के इन इलाकों में बिगड़ा मौसम, 1 जून तक के लिए अलर्ट जारी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading