Lockdown: दो दिन से भूखा था शमशाद का परिवार, PMO को किया फोन तो घंटे भर में पहुंची मदद
Purnia News in Hindi

Lockdown: दो दिन से भूखा था शमशाद का परिवार, PMO को किया फोन तो घंटे भर में पहुंची मदद
पूर्णिया के मुस्लिम परिवार को सामग्री देता पुलिसवाला

पूर्णिया (Purnia) के जलालगढ हाई स्कूल के पास सरकारी जमीन पर शमशाद औऱ उसकी पत्नी जिया खातून दो बच्चों के साथ रहते हैं और फेरी का काम कर गुजर बसर करते है. कोरोना के चलते लॉकडाउन (Lockdown) में उनका फेरी का कारोबार ठप हो गया है.

  • Share this:
पूर्णिया. कोरोना के कारण लॉकडाउन (Lockdown) में दो दिनों से भूख-प्यास से बेहाल शमशाद ने जब पीएमओ (PMO) को फोन कर मदद मांगी तो महज एक घंटे मे ही थाना प्रभारी राहत सामग्री लेकर शमशाद के घर पर हाजिर हो गये. पीएमओ से इतनी जल्दी मदद मिलने से शमशाद का पूरा परिवार प्रधानमंत्री (Prime Minister) नरेंद्र मोदी को शुक्रिया कह रहा है.

लॉकडाउन के कारण बंद है फेरी का काम

पूर्णिया के जलालगढ़ हाई स्कूल के पास सरकारी जमीन पर शमशाद और उसकी पत्नी जिया खातून दो बच्चों के साथ रहते हैं और फेरी का काम कर गुजर बसर करते हैं. कोरोना के चलते लॉकडाउन में उनका फेरी का कारोबार ठप पड़ गया है. ऐसे में शमशाद और उनके परिवार के सामने भुखमरी की नौबत आन पड़ी. शमशाद का कहना है कि उसने भागलपुर के अपने एक मित्र से पीएमओ का नंबर लिया और वहां फोन किया तो पीएमओ के अधिकारी ने कहा कि दो-तीन घंटे में आपको मदद मिल जाएगी. लेकिन एक घंटे के अंदर ही जलालगढ़ के थाना प्रभारी मेनका रानी ने राशन पानी उनके घर पर भिजवा दिया.



पुलिसवाला घर पर पहुंचाने आया राशन
पहुंचाए गए राशन में चावल, दाल, चूड़ा, सरसों का तेल, आलू-प्याज था. शमशाद का कहना है कि यहां के किसी जनप्रतिनिधि ने उनकी मदद नहीं की तो अंत में पीएमओ को फोन कर उनसे मदद मिली. शमशाद ने कहा कि वो लोग फेरी का काम कर कमाते-खाते हैं. उनके पास राशन कार्ड भी नहीं है. सिर्फ आधार कार्ड है जिस कारण उन्हें किसी तरह की मदद नहीं दी गई लेकिन जब उसने पीएमओ को फोन किया तो एक घंटे के अंदर उनके घर पर राशन पहुंच गया.

शमशाद की पत्नी ने कहा थैंक्स

अब वो अपने बच्चों की भूख शांत कर पायेंगे. शमशाद की पत्नी जिया खातून ने आंसू भरे नेत्रों से प्रधानमंत्री को इस मदद के लिये शुक्रिया कहा. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण उनका फेरी का काम बंद है ऐसे में उनके घर में दो दिन से खाने के लाले पड़े थे. पीएमओ के कहने पर शमशाद के घर राशन लेकर पहुंचे जलालगढ़ थाना के एएसआई फूलचन्द्र राम ने कहा कि थाना प्रभारी मेनका रानी को पीएमओ से फोन आया था कि शमशाद को मदद पहुंचायें. इसके बाद थाना प्रभारी मेनका रानी ने फोन कर शमशाद से बात की और एएसआई द्वारा एक बोरा सूखा राशन का पैकेट उनके घर पर भिजवाया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज