भूकंप के झटके से सहमे लोग, बचाव के उपाय को लेकर हुई चर्चा

भूकंप के बाद उसके वैज्ञानिक कारण, इलाके में भूकंप के इतिहास और आपदा प्रबंधन के सच पर बातें लोगों बीच जारी हैं. जागरूक लोग भूकंप पर कई तरह की बात करते नजर आये.

News18 Bihar
Updated: September 12, 2018, 12:36 PM IST
भूकंप के झटके से सहमे लोग, बचाव के उपाय को लेकर हुई चर्चा
भूकंप पर चर्चा करते लोग
News18 Bihar
Updated: September 12, 2018, 12:36 PM IST
पूर्वोत्तर बिहार के कई जिलों में बुधवार को भूकंप के झटके महसूस किये गये. भूकंप के ये झटके पूर्णिया और आसपास के इलाके में भी लगे इससे लोगों के बीच थोड़ी देर लिए अफरातफरी मच गई लेकिन कहीं कोई नुकसान जैसी बात नहीं हुई.

भूकंप के बाद उसके वैज्ञानिक कारण, इलाके में भूकंप के इतिहास और आपदा प्रबंधन के सच पर बातें लोगों बीच जारी हैं. जागरूक लोग भूकंप पर कई तरह की बात करते नजर रहे हैं. पूर्णिया के वरिष्ठ नागरिक संजय बनर्जी जो कृषि जानकार भी हैं बताते हैं कि नेपाल और उत्तर पूर्व से लगे पूर्णिया प्रमंडल में हर साल भूकंप के झटके आते हैं जिनकी तीव्रता प्रबल होती है.

पटना से वैज्ञानिक जागरूकता के लिए आये जावेद आलम ने भूकंप के झटके महसूस किये और बताया कि कम्पन के बाद लोगों के चेहरे साफ़ बता रहे थे कि वे अंदर से हिले हुए हैं. पूर्णिया के ही विज्ञान शिक्षक डी.के.झा के मुताबिक भूगर्भीय कारणों से भूकंप आते हैं. वे कहते हैं कि भूकंप साफ कर जाता है कि लोग कैसे आज भी राम भरोसे की सच्चाई के बीच हैं.

उनके मुताबिक भूकंप पर पूर्वानुमान की व्यवस्था न होने और आपदा प्रबंधन के सच ऐसे मौकों पर उजागर हो जाते हैं. फिलहाल लोग भूकंप के दुबारा आने की आशंका से खौफ में हैं और इस आपदा से बचाव की कोशिश कर रहे हैं.

रिपोर्ट- राजेंद्र पाठक
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर