लाइव टीवी

जैविक खाद के नाम पर चल रहा है गोरखधंधा, किसानों के साथ हुई बड़ी ठगी

News18 Bihar
Updated: October 29, 2019, 12:28 PM IST
जैविक खाद के नाम पर चल रहा है गोरखधंधा, किसानों के साथ हुई बड़ी ठगी
अधिकारियों ने छापेकारी कर भारी मात्रा में खाद को बरामद किया है.

बिहार (Bihar) के पूर्णिया (Purnia) जिले के डगरुआ थाना के बेलगच्छी में किसानों ने एक कंपनी के नाम पर नकली जैविक खाद बेचने वाले गिरोह का भंडाफोड किया है. लोगों ने एजेंट को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया.

  • Share this:
पूर्णिया. बिहार (Bihar) के पूर्णिया (Purnia) जिले के डगरुआ थाना के बेलगच्छी में किसानों ने एक कंपनी के नाम पर नकली जैविक खाद बेचने वाले गिरोह का भंडाफोड किया है. लोगों ने एजेंट को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया. वहीं किसानों ने बेलगच्छी में एक अवैध गोदाम से भारी मात्रा में नकली खाद का सैकडों बोरा भी बरामद कर लिया.

किसानों का आरोप है कि जैविक खाद बेचने का झांसा देकर कुछ लोग भोले-भाले किसानों से पैसा ऐंठते हैं और बदले में नकली खाद देते हैं. इसी वजह से फसल चौपट हो गई है. किसान अब्दुल सलाम और मो मोस्तकीम ने कहा कि उनलोगों ने गाय-बैल बेचकर खाद खरीदा था. इस खाद को खेत में देने के कारण सैकडों किसानों की फसल चौपट हो गई. लोगों ने कर्ज लेकर खेती की थी लेकिन नकली खाद के कारण उनकी लागत भी नहीं निकल पाई. एक तो बाढ के कारण लोग परेशान हैं, दूसरा नकली खाद के कारण उनकी फसल चौपट हो रही है.

किसानों की सूचना पर जांच में जुटे पदाधिकारी
किसानों ने इस गोरखधंधे की सूचना स्थानीय थाना, जिला कृषि पदाधिकारी और बीडीओ को दी. सूचना मिलते ही बीडीओ और अनुमंडल कृषि पदाधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच में जुट गए. डगरुआ पुलिस ने कंपनी के एजेंट को गिरफ्तार भी कर लिया. अनुमंडल कृषि पदाधिकारी ने कहा कि फिलहाल इसकी जांच की जा रही है.

कई तरह की गड़बड़ी पाई गई है
उन्होंने कहा कि इस गोदाम का लाईसेंस है कि नहीं इसकी भी जांच की जा रही है. जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी. वहीं जिला कृषि पदाधिकारी सुरेंद्र प्रसाद ने कहा कि कंपनी द्वारा कई तरह की गड़बड़ी पायी गई है. इनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी. इधर डगरुआ के बीडीओ आशीष कुमार ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है.  किसी को भी किसानों के साथ ठगी करने नहीं दिया जाएगा.

इससे पहले भी किसानों ने की थी शिकायत
Loading...

वहीं गिरफ्तार किए गए कंपनी के एजेंट ने कहा कि वे लोग जैविक खाद बेचते हैं. वहीं लाइसेंस के बाबत पूछे जाने पर उसने कोई जवाब नहीं दिया. एजेंट ने बताया कि आफाक आलम ही कोचाधामन से इस गोरखधंधे को चला रहा है. वे लोग उन्हीं के साथ काम करते हैं. बता दें कि 17 अक्टूबर को भी खाद दुकानदारों ने एक एजेंट को पकड़कर कृषि विभाग को सूचना दी थी. लेकिन उसपर कोई कार्रवाई नहीं हुई. बताया जाता है कि विभाग के कुछ कर्मियों की मिलीभगत से ग्रामीण इलाकों में जमकर नकली खाद का गोरखधंधा चल रहा है.

(कुमार प्रवीण की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें-

नशे में धुत आयोजकों ने ऑर्केस्ट्रा में चलाई गोली, एक बच्चे की मौत

संतान की चाह में काली पूजा पर चाचा ने भतीजे की दी बलि, तांत्रिक ने दी थी सलाह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पूर्णिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 29, 2019, 12:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...