• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • Coronavirus: बिहार की इस जेल में रोजाना 500 मास्क बना रहे कैदी, कई जेलों को हो रही सप्लाई

Coronavirus: बिहार की इस जेल में रोजाना 500 मास्क बना रहे कैदी, कई जेलों को हो रही सप्लाई

कैदियों द्वारा बनाए गए मास्क को दिखाते पूर्णिया सेंट्रल जेल के अधिकारी

कैदियों द्वारा बनाए गए मास्क को दिखाते पूर्णिया सेंट्रल जेल के अधिकारी

पूर्णिया सेंट्रल जेल के अधिकारियों ने बताया कि जेल में मास्क बनाने के लिये दस मशीनें उपलब्ध हैं. इन मशीनों से प्रतिदिन 20 से 25 कैदी मास्क बनाने का काम कर रहे हैं.

  • Share this:
पूर्णिया. पूरी दुनिया इन दिनों कोरोना से बचने के उपाय में लगी है. बिहार की जेलों में भी इसको लेकर खासी पहल की गई है. सूबे के पूर्णिया (Purnia Central Jail) स्थित केन्द्रीय कारागार में भी कोरोना वायरस (Corona Virus) को लेकर हाई अलर्ट है. इस जेल में कैदियों द्वारा खुद मास्क बनाया जाता है. कैदियों द्वारा उजले रंग के खादी के कपड़े से ये मास्क बनाये जा रहे हैं.

मास्क बनाने वाला बिहार का पहला जेल

जेल अधीक्षक जितेन्द्र कुमार और जेल उपाधीक्षक मृत्युंजय कुमार ने बताया कि पूर्णिया का केन्द्रीय कारागार बिहार का पहला कारागार है जहां के कैदी कोरोना के लिये मास्क बनाते है. यहां के 20 से 25 कैदी प्रतिदिन करीब पांच सौ मास्क बनाते हैं. इन मास्कों को बिहार के कई जेलों में सप्लाई भी किया जाता है. जेल अधिकारियों ने बताया कि इस जेल के कैदियों द्वारा बनाये गये मास्क को नवगछिया और कटिहार जेल में भी सप्लाई किया जा रहा है. इसके अलावे बगहा कारागार से भी मास्क का आर्डर आया है.

दस मशीनों से हो रहा उत्पादन

अधिकारियों ने बताया कि जेल में मास्क बनाने के लिये दस मशीनें उपलब्ध हैं. इन मशीनों से प्रतिदिन 20 से 25 कैदी मास्क बनाने का काम कर रहे हैं. दो दिनों में करीब एक हाजर मास्क बनकर तैयार हो गया है.  जेल उपाधीक्षक ने बताया कि कैदी प्रतिदिन करीब पांच सौ मास्क बना लेते हैं. मास्क बनाने में जो कपड़ा होता है वो खादी का होता है साथ ही मेटेरियल का उपयोग होता है वो भी पूर्णिया केन्द्रीय कारागार के कैदियों द्वारा ही बनाया जाता है.

यूपी की जेल में भी हो रहा है उत्पादन

जेल उपाधीक्षक मृत्युंजय कुमार ने बताया कि इस तरह काफी कम लागत में कैदियों और जेल के कर्मचारियों के लिये कैदियों द्वारा मास्क बनाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि जहां से भी जेल के लिये मास्क की मांग होगी वहां के जेल को मास्क की आपूर्ति की जायेगी. जेल उपाधीक्षक ने बताया कि बिहार में सिर्फ पूर्णिया केन्द्रीय कारागार में मास्क बनाने का काम चल रहा है. इसके अलावा यूपी के मथुरा केन्द्रीय कारागार में भी कोरोना को लेकर मास्क बनाया जा रहा है.

जेल में बंद हैं 1435 कैदी

उन्होंने बताया कि पूर्णिया केन्द्रीय कारागार में इस समय 51 महिला कैदी समेत कुल 1435 कैदी बंद हैं. फिलहाल पुरुष कैदियों द्वारा मास्क बनाने का काम चल रहा है लेकिन जल्द ही महिला कैदियों द्वारा भी मास्क बनाया जायेगा. इसके लिये उन्हें ट्रेनिंग भी दी गयी है.  इसके साथ ही जेल के सभी कैदियों को मास्क दिया गया है साथ ही सारे स्टाफ औऱ सुरक्षाकर्मियों को भी मास्क दिया गया है. जेल उपाधीक्षक ने ये भी बताया कि सरकार के निर्देश के आलोक में जेल में कैदियों से मुलाकात पर एक सप्ताह तक रोक लगा दी गई है.

ये भी पढ़ें- 100 से अधिक रेड के बाद पुलिस के हत्थे चढ़े लुटेरे, 18 लाख कैश और हथियार बरामद

ये भी पढ़ें- Coronavirus: दुकानदार ने लुटा दिए 5 हजार मुर्गे, लूटने वालों की जुट गई भीड़

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज