Bihar Chunav 2020: सुशील मोदी मंच पर ही भूल गए सहयोगी दल का चुनाव चिह्न, कांग्रेस ने ली चुटकी

Bihar Chunav_ बीजेपी नेता सुशील मोदी मंच पर ही एनडीए के सहयोगी दल हम का चुनाव चिह्न भूल गए.
Bihar Chunav_ बीजेपी नेता सुशील मोदी मंच पर ही एनडीए के सहयोगी दल हम का चुनाव चिह्न भूल गए.

Bihar Assembly Election: बीजेपी के स्टार प्रचारक और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी (Sushil Modi) पूर्णिया में चुनावी सभा के दौरान NDA के सहयोगी दल हम (HAM) का चुनाव चिह्न भूल गए. कांग्रेस (Congress) ने कहा- एक-दूसरे को गंभीरता से नहीं लेते राजग के घटक दल.

  • Share this:
पूर्णिया. बिहार चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) में हम, भाजपा, वीआईपी और जदयू एक साथ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानी एनडीए (NDA) की साझीदार पार्टी है. गठबंधन के नेता एक साथ चुनाव प्रचार भी कर रहे हैं, लेकिन लगता है भाजपा के वरिष्ठ नेताओं को अपने सहयोगी दलों के चुनाव चिह्न की याद नहीं रहती. कुछ ऐसा ही हुआ आज पूर्णिया (Putnia) में हुई एनडीए की चुनावी सभा में, जब बीजेपी के सीनियर लीडर सुशील मोदी (Sushil Modi) अपने गठबंधन के सहयोगी दल हम पार्टी (HAM) का चुनाव चिह्न ही भूल गए. जिस पार्टी के उम्मीदवार के लिए वोट मांगने सुशील मोदी पहुंचे थे, उसका चुनाव चिह्न उन्हें याद नहीं रहा. डिप्टी सीएम ने मंच पर ही सहयोगी से यह जानकारी मांगी, उसके बाद भाषण जारी रखा. इस पूरी घटना पर कांग्रेस (Congress) ने चुटकी ली है. कांग्रेस प्रवक्ता वीके ठाकुर ने व्यंग्य करते हुए कहा कि लगता है एनडीए के घटक दल एक-दूसरे को गंभीरता से नहीं लेते हैं.

हुआ यूं कि पूर्णिया के जिला स्कूल मैदान में सुशील मोदी चुनावी सभा करने आए थे. भाषण के बाद जब उन्होंने कसबा विधानसभा से हम पार्टी के उम्मीदवार राजेंद्र यादव को मंच पर खड़ा करके उन्हें जिताने की अपील शुरू की, तो उनका चुनाव चिह्न सुशील मोदी को याद नहीं रहा. उन्होंने मंच पर ही पहले हम उम्मीदवार से उनका चुनाव चिह्न पूछ लिया और फिर जनता को कहा कि 'कड़ाही छाप' पर वोट देकर इन्हें विजयी बनाएं.

इसलिए याद नहीं रहा चुनाव चिह्न
सुशील मोदी के हम पार्टी का चुनाव चिह्न भूलने के पीछे वजह है. दरअसल, अभी तक हम का चुनाव चिह्न टेलीफोन छाप था, मगर इस बार कड़ाही हो गया है. सुशील कुमार मोदी की सभा में मौजूद कुछ नेताओं ने कहा कि हम का चुनाव चिह्न बदल गया है, इसी वजह से यह गलती हुई. बहरहाल इस पूरे घटनाक्रम की पूर्णिया में खूब चर्चा रही. लोग दिलचस्पी लेकर इसे एक-दूसरे के साथ साझा कर रहे हैं.
कांग्रेस ने किया कटाक्ष


इधर, सुशील मोदी के रैली के बीच हम का चुनाव चिह्न भूल जाने के वाकये पर कांग्रेस ने चुटकी ली है. पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता वीके ठाकुर ने कहा कि चुनावी मंच से सार्वजनिक रूप से सुशील मोदी द्वारा हम उम्मीदवार से उसका चुनाव चिह्न पूछना साबित करता है कि एनडीए के घटक दल एक दूसरे को कितनी गंभीरता से ले रहे हैं. ठाकुर ने कहा कि एनडीए के घटक दल आपस में एक दूसरे को ठगने में लगे हैं. देखना होगा कि सुशील मोदी को अगली चुनावी सभाओं में भी हम की कड़ाही याद रहती है या नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज