• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • आखिर शहर की स्ट्रीट लाइट बुझाने क्यों निकल जाता है ये व्यक्ति

आखिर शहर की स्ट्रीट लाइट बुझाने क्यों निकल जाता है ये व्यक्ति

पूर्णिया नगर निगम के अधिकारी दिवाकांत के बारे में कुछ भी नहींं जानते हैं. इस संबंध में जब उनसे पूछा जाता है तो वे बस यही दोहराते हैं कि जल्द लाइट के स्विच सही किए जाएंगे और लाइटों को सही समय पर बंद करने की व्यवस्‍था की जाएगी.

पूर्णिया नगर निगम के अधिकारी दिवाकांत के बारे में कुछ भी नहींं जानते हैं. इस संबंध में जब उनसे पूछा जाता है तो वे बस यही दोहराते हैं कि जल्द लाइट के स्विच सही किए जाएंगे और लाइटों को सही समय पर बंद करने की व्यवस्‍था की जाएगी.

दिवाकांत झा ने दिन में जलती स्ट्रीट लाइट और उनके खतरनाक खुले तारों वाले स्विच को लेकर नगर निगम को पत्र भी लिखा लेकिन उसका कोई भी जवाब नहीं मिला. न ही स्ट्रीट लाइट से जुड़ी निगम की लापरवाही बंद हुई.

  • Share this:
पूर्णिया. शहर में एक व्यक्ति ऐसा भी है जो हर दिन शहर की स्ट्रीट लाइट बुझाने के लिए घर से निकल जाता है. चौंकिए मत ये एक जिम्मेदार नागरिक हैं. रात को नहीं ये सुबह होते ही शहर की स्ट्रीट लाइटों को बंद करने निकल पड़ते हैं. ये हैं दिवाकांत जो बिजली की बर्बादी को रोकने के लिए कोई आंदोलन नहीं कर रहे, न ही प्रदर्शन, इन्होंने ये जिम्मा खुद ही उठाया है और पिछले तीन सालों से लगातार वे ये करते आ रहे हैं. हालांकि सभी स्ट्रीट लाइट नगर निगम की हैं और इन्हें जलाने बुझाने का काम भी उसी का है लेकिन दिवाकांत को इससे कोई सरोकार नहीं है वे बस अपना कम करते हैं.

कई बार लिखा पत्र लेकिन...
दिवाकांत झा ने दिन में जलती स्ट्रीट लाइट और उनके खतरनाक खुले तारों वाले स्विच को लेकर नगर निगम को पत्र भी लिखा लेकिन उसका कोई भी जवाब नहीं मिला. न ही स्ट्रीट लाइट से जुड़ी निगम की लापरवाही बंद हुई. दिवाकांत के इस काम को स्‍थानीय लोग भी काफी पसंद करते हैं. वे उन्हें काफी सम्मान की नजर से देखते हैं. पूर्णिया के वरिष्ठ नागरिक चंद्रशेखर मिश्र कहते हैं कि दिवाकांत एक शिक्षक और देश के नागरिक के तौर पर जो काम कर रहे हैं वह सराहनीय है.

नगर निगम को नहीं पता कौन है दिवाकांत
पूर्णिया नगर निगम के अधिकारी दिवाकांत के बारे में कुछ भी नहींं जानते हैं. इस संबंध में जब उनसे पूछा जाता है तो वे बस यही दोहराते हैं कि जल्द लाइट के स्विच सही किए जाएंगे और लाइटों को सही समय पर बंद करने की व्यवस्‍था की जाएगी. लेकिन इसका कोई समाधान अभी तक नजर नहीं आया है.

ये भी पढ़ेंः 25 लाख की गाड़ी में सवार दिखेंगे बिहार के नेता, अफसरों को भी मिलेगी लग्जरी कार

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज