लाइव टीवी

इस 'खास' अभियान के लिए साइकिल से तय की 2000 किमी की दूरी, भारत यात्रा पर निकले लुईस दास जाएंगे असम

News18 Bihar
Updated: November 27, 2019, 3:51 PM IST
इस 'खास' अभियान के लिए साइकिल से तय की 2000 किमी की दूरी, भारत यात्रा पर निकले लुईस दास जाएंगे असम
हरिद्वार से साइकिल पर भारत भ्रमण को निकले लुईस दास

अपनी इस यात्रा में लुईस ने उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और बिहार की यात्रा पूरी कर ली है और स्वच्छता का संदेश दे चुके हैं. अब वे पश्चिम बंगाल के रास्ते असम जाएंगे.

  • Share this:
पूर्णिया. आम लोगों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता (Awareness for cleanliness ) बढ़े और घर-घर में कूड़ादान ( dustbin ) हो, इसी उद्येश्य से हरिद्वार से साइकिल से भारत यात्रा पर निकले लुईस दास (Lewis Das) पूर्णिया (Purnia) पहुंचे. यहां लोगों ने उनका स्वागत किया और गंदगी नहीं फैलाने का संकल्प लिया. बता दें कि हरिद्वार से असम की अपनी पहली यात्रा के तहत लुईस अब तक 2000 किलोमीटर की दूरी तय कर चुके हैं.


अपनी इस यात्रा में लुईस उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और बिहार की यात्रा पूरी कर ली है और स्वच्छता का संदेश दे चुके हैं. अब वे पश्चिम बंगाल के रास्ते असम जाएंगे. लुईस दास के मुताबिक अभी भी भारतीय जनमानस में कचरा प्रबंधन और कूडेदान रखने के प्रति जागरूकता की कमी है.



लुईस कहते हैं कि पंचायतों, गांवों, नगर निकायों और कस्बों में तो कूडेदान रखने के काम में लोगों की रुचि काफी कम है. अगर किसी के यहां कूड़ेदान होता भी है तो वह गीले और सूखे कचरों के लिए अलग-अलग नहीं होता. इसके साथ ही कचरों को अलग करने और ठीक ढंग से फेंकने के प्रति लोगों में जागरूकता की कमी है.


अपनी साइकिल यात्रा के उद्देश्य को बताते हुए लुईस दास कहते हैं कि साफ-सफाई की अव्यवस्था महज कूड़ेदान रखने की आदत से दूर हो जाती है. इसी के तहत वे घर-घर कूड़ेदान का अभियान चला रहे हैं.


 वे कहते हैं कि लोग उन्हें  बहुत ध्यान से सुनते है इसलिए पूरा भरोसा है कि वे अपने उद्देश्य में जरूर सफल होंगे.




स्वच्छता को लेकर जागरूकता अभियान पर निकले लुईस दास ने 2000 किमी की दूरी तय कर ली है.



पूर्णिया में अपने स्वागत से अभिभूत लुईस ने बताया कि भारत आतिथ्य और यात्रा के प्रति भावुक रहा था और आज भी है. उन्होंने कहा कि इस कारण सामाजिक यात्राएं समाज पर सकारात्मक प्रभाव डालती आईं हैं.


पूर्णिया में भी लुईस की जागरूकता यात्रा से लोग काफी प्रभावित दिखे और कहा कि इनका यह काम स्वस्थ और स्वच्छ समाज के लिए काफी उपयोगी साबित होगा. लोगों का कहना है कि लुईस ने अपनी यात्रा को सही दिशा तो दे दिखा रहे है, लेकिन अब बारी उन लोगों की है जो कूड़ेदान का सही उपयोग आज भी नहीं करते.


ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पूर्णिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 3:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर