अपना शहर चुनें

States

आचरण शिक्षा देने के लिये विश्व हिन्दू परिषद ने बिहार में उतारे 3500 कार्यकर्ता

विहिप के नेता
विहिप के नेता

इस विशेष बैठक में विहिप के संगठन विस्तार और संगठन के उद्देश्यों को विस्तार देने की कई योजनाएं तय की गईं. विहिप के केंद्रीय सह महामंत्री मिलिंद परांडे ने बातचीत में कहा कि हिन्दू समाज को भी उन्नत आचरण करने के लिए जागरुक होना होगा.

  • Share this:
देशहित के कई विषयों पर विहिप यानी विश्व हिन्दू परिषद ने चिंता जताई है. विश्व हिंदू परिषद ने सीमांचल में बांग्लादेशी घुसपैठ पर अपनी भारी चिंता जताते हुए असम की तरह उन्हें डी-रजिस्टर करने की जरुरत बताई है.

परिषद ने सीमांचल में धर्मांतरण, पशु तस्करी, जनसंख्या अंसतुलन की समस्याओं को देशहित की एक विशेष चिंता करार दी है. पूर्णिया में पिछले 4 दिनों से उत्तर बिहार के विहिप कार्यकर्ताओं का विशेष कार्यक्रम आयोजित हो रहा है जिसमे संगठन के राष्ट्रीय और प्रांतीय स्तर के कई विहिप प्रचारक और संगठनकर्ता उत्तर बिहार के विभिन्न जिलों के विहिप कार्यकर्ताओ को कई विषयों पर वैचारिक प्रशिक्षण दे रहे हैं.

इस विशेष बैठक में विहिप के संगठन विस्तार और संगठन के उद्देश्यों को विस्तार देने की कई योजनाएं तय की गईं. विहिप के केंद्रीय सह महामंत्री मिलिंद परांडे ने बातचीत में कहा कि हिन्दू समाज को भी उन्नत आचरण करने के लिए जागरुक होना होगा.



उन्होंने देशहित में आचरणों के माध्यम से जोड़ने की बड़ी जरुरत बताया. परांडे ने कहा कि पूरे बिहार में हिन्दू धर्म के विभिन आचरणों के साथ शिक्षा देने के लिये विहिप ने 3500 एकल शिक्षकों की तैनाती की है वहीं ऐसे 1500 शिक्षक सीमांचल के कई गांवों में अपने उद्देश्यों को पूरा कर रहे हैं.
एक खास सवाल के जवाब में विहिप नेता मिलिंद परांडे ने देश में जन्म सम्बन्धी नियम में एकसमान व्यवहार लागू करने की जरुरत बताते हुए दो से अधिक सन्तान वाले लोगों को सरकारी सुविधा से वंचित करने सहित कई नागरिक अधिकारों से वंचित रखने की जरुरत को देशहित में जरुरी करार दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज