प्राचीन सूर्य प्रतिमा को संग्रहालय में रखने के फैसले का गांववाले कर रहे हैं विरोध

बिहार के किशनगंज जिले के बड़ीजान गांव के लोग आस्था के प्रतीक सूर्य प्रतिमा को संरक्षण और सुरक्षा के नाम पर गांव से हटाकर संग्रहालय में रखने का विरोध कर रहे हैं. ग्रामीण किसी भी सूरत में गांव से सूर्य प्रतिमा को विस्थापित नहीं होने देने की बात कह रहे हैं.

Rajendra Pathak | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: January 16, 2018, 6:05 PM IST
प्राचीन सूर्य प्रतिमा को संग्रहालय में रखने के फैसले का गांववाले कर रहे हैं विरोध
फोटो- news18
Rajendra Pathak | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: January 16, 2018, 6:05 PM IST

बिहार के किशनगंज जिले के बड़ीजान गांव के लोग आस्था के प्रतीक सूर्य प्रतिमा को गांव से हटाकर संग्रहालय में रखने का विरोध कर रहे हैं.





स्थानीय सरंपच मौलवी शब्बीर मस्तान का कहना है कि इस सूर्य प्रतिमा को गांव के हिन्दू और मुसलमान दोनों धर्मों के लोग अपने गांव की आस्था और इतिहास मानते हैं और संस्कृति विभाग द्वारा प्रतिमा को गांव से विस्थापित करने की सूचना से गांव के लोग खुश नहीं हैं.


Loading...





स्थानीय नागरिक रमेश मिश्र के मुताबिक संस्कृति विभाग द्वारा सूर्य प्रतिमा के संरक्षण और सुरक्षा की चिंता का एकाएक ख्याल आना और सालों से पूजा की जा रही प्रतिमा को हटाकर अपने संग्राहलय में रखने का निर्णय लोगों के भावना के अनुरुप नहीं है.


उन्होंने बताया कि भारतीय पुरातत्व अधिनियम 2010 के तहत किसी गांव में किसी स्थल से प्राचीन और पूजा की जा रही प्रतिमा को विस्थापित करने का फैसला सिर्फ केंद्र सरकार का संस्कृति विभाग ले सकता है.


उधर, राज्य के संस्कृति मंत्री के के ऋषि का कहना है कि मूर्ति को सुरक्षित करने के कारण यह निर्णय लिया गया लेकिन वो जनता की भावनाओं की कद्र करते हैं. स्थानीय विधायक मोजाहिद आलम और विधान पार्षद डॉ दिलीप जायसवाल भी सरकार के इस फैसले के समर्थन में नहीं हैं और स्थानीय लोगों की भावनाओं को सही बता रहे हैं.









News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पूर्णिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2018, 6:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...