अपना शहर चुनें

States

बिहार: ऑयल टैंक लॉरी से हो रही शराब तस्करी, पूर्णिया में पकड़ी गई 62 लाख रुपये की खेप

पूर्णिया में पकड़ी गई शराब की बड़ी खेप.
पूर्णिया में पकड़ी गई शराब की बड़ी खेप.

उत्पाद अधीक्षक दीनबंधु कुमार ने बताया कि पश्चिम बंगाल (West Bengal) से शराब की बड़ी खेप आने की गुप्त सूचना मिली थी. इसको लेकर दालकोला चेक पोस्ट पर जांच की गई तो एक टैंक लॉरी, एक ट्रक और एक पिकअप वैन को पकड़ा गया.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: November 27, 2020, 11:37 AM IST
  • Share this:
पूर्णिया. शराब के तस्कर स्मगलिंग के लिए अनोखे और अजब-गजब उपाय अपना रहे हैं. पूर्णिया (Purnia) में अब पेट्रोल और डीजल के टैंकलॉरी से भी शराब की तस्करी हो रही है. इस बात का खुलासा तब हुआ जब  एक्साइज विभाग की टीम (Excise Department Team) ने गुरुवार को दालकोला चेक पोस्ट पर छापामारी की. इस कार्रवाई में टैंक लॉरी समेत तीन बड़े वाहनों से भारी मात्रा में शराब जब्त की गई है. पकड़ी गई शराब का बाजार मूल्य करीब ₹62 लाख बताया जा रहा है.

उत्पाद अधीक्षक दीनबंधु कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि बंगाल से शराब की बड़ी खेप आ रही है. इसको लेकर दालकोला चेक पोस्ट पर जांच की गई तो जांच के दौरान एक टैंक लॉरी, एक ट्रक और एक पिकअप वाहन को पकड़ा गया. टैंक लॉरी के अंदर जहां तेल या पेट्रोल रखा जाता है उसमें से शराब के 73  कार्टून निकाले गये.

इसके अलावा ट्रक से 508 कार्टून और पिकअप वैन पर 107 कार्टून शराब लदी थी. तीनों गाड़ियों के ड्राइवर और खलासी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. फिलहाल मामले की जांच की जा रही है. उन्होंने बताया कि तीनों गाड़ियों से करीब 62 सौ लीटर शराब बरामद किया गया है जिसका बाजार मूल्य करीब ₹62 लाख रुपये है.



उत्पाद अधीक्षक ने बताया कि शराब पश्चिम बंगाल से दालकोला चेक पोस्ट होते हुए बिहार के अलग-अलग शहरों में तस्करी कर ले जायी जा रही थी. लेकिन उत्पाद विभाग के सतर्कता के कारण भारी मात्रा में शराब पकड़ी गयी है.
गौरतलब है कि हाल के दिनों में पूर्णिया के उत्पाद विभाग की टीम द्वारा बड़े पैमाने पर शराब की खेप पकड़ी गई है. इसके लिए पूर्णिया के उत्पाद विभाग के तीन अधिकारियों को राज्य सरकार की ओर से प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया गया है. हालांकि अभी भी बड़े पैमाने पर पूर्णिया और आसपास के ग्रामीण इलाकों में शराब की तस्करी और देसी शराब के निर्माण का कार्य हो रहा है. .जिस पर अंकुश लगाने की जरूरत है.

बता दें कि 4 दिन पहले ही मुफस्सिल थाना के दीवानगंज में ग्रामीणों ने मुसहरी टोला से बड़े पैमाने पर देसी शराब पकड़ी थी. इसके बाद स्थानीय पुलिस और उत्पाद विभाग की टीम ने भी वहां छापामारी की थी. इस तरह से ग्रामीण इलाकों में कई जगह देसी शराब बनाने का धंधा चल रहा है. वहीं पश्चिम बंगाल का सीमावर्ती इलाका होने के कारण आए दिन दालकोला चेकपोस्ट होकर बंगाल से भारी मात्रा में शराब लायी जाती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज