नशाखुरानी और सुरक्षित यात्रा के लिए रेलवे ने बांटे पर्चे, कुछ ऐसे मनाया जाएगा गणतंत्र दिवस

भागलपुर में लोगों को जागरुक करने के लिए तिरंगे, गुब्बारे और पर्चियां बांटी गईं.

भागलपुर में लोगों को जागरुक करने के लिए तिरंगे, गुब्बारे और पर्चियां बांटी गईं.

केन्द्रीय रेलवे रेल यात्री संघ की ओर से जीआरपी और आरपीएफ के साथ मिलकर पूरे देश में सुरक्षित रेलयात्रा को लेकर चलाया जा रहा है. इस दौरान गणतंत्र दिवस से पूर्व बच्चों को गुब्बारे बांटे गए और लोगों को सुरक्षित यात्रा के संबंध में जानकारी दी गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2020, 4:25 PM IST
  • Share this:
भागलपुर. गणतंत्र दिवस को लेकर इन दिनों रेलवे ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं. इसी के चलते अब केंद्रीय रेलवे रेल यात्री संघ्‍ज्ञ की ओर से गणतंत्र दिवस से पूर्व जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में रेल यात्रियों को नशाखुरानी और सुरक्षित रेल यात्रा को लेकर जानकारियां दी गईं. साथ ही यात्रियों को तिरंगा और जागरुकता संदेश की पर्चियां भी दी गईं, साथ ही बच्चों को गुब्बारे बांटे गए.

पूरे देश में चल रहा है अभियान

केन्द्रीय रेलवे रेल यात्री संघ की ओर से जीआरपी और आरपीएफ के साथ मिलकर पूरे देश में सुरक्षित रेलयात्रा को लेकर अभियान चलाया जाता है. इसी क्रम में आज नशाखुरानी गिरोह के चंगुल में आने से बचने के साथ रेलवे ट्रैक या यात्रा के दोरान मोबाइल से सेल्फी न लेने सहित सुरक्षित रेलयात्रा को लेकर रेलयात्रियों से अपील की गई. मौके पर मौजूद केन्द्रीय रेलवे रेल यात्री संघ के संयोजक विष्णु खेतान ने रेलयात्रियों से सुरक्षित यात्रा के लिए आरपीएफ का इमरजेंसी नंबर 182 और जीआरपी का इमरजेंसी नंबर 1512 को मोबाइल में सेव करने की अपील की.

न लें खतरनाक तरीके से सैल्फी
संघ के संयोजक ने इस्टर्न रेलवे के ही लिलुआ रेलवे स्टेशन पर दो युवकों के सेल्फी लेने के क्रम में ट्रेन के चपेट में आने से हुए मौत का जिक्र करते हुए यात्रियों से अपील की कि वे रेलवे ट्रैक पर सेल्फी न लें. वहीं मौके पर मौजूद प्रसिद्ध भागवत कथावाचक आचार्य शिवम् विष्णु पाठक ने संग की ओर से सुरक्षित यात्रा को लेकर चलाए जा रहे अभियान को सराहा और ऐलान किया कि अपने धार्मिक व आध्यात्मिक कार्यों के दौरान आमजनों से सुरक्षित यात्रा और इस दौरान किसी के द्वारा दिए जाने वाले खाने के सामानों का प्रयोग न करने को लेकर लोगों से अपील करेंगे.



ये भी पढ़ेंः  जेडी वीमेंस कॉलेज में अब भी लागू रहेगा ड्रेस कोड, नोटिस से 'बुर्का' शब्द हटाया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज