• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • Uri Attack: बेटे की शहादत पर पिता ने कहा, कुछ भी करो लेकिन सपूतों की कुर्बानी बेकार नहीं जानी चाहिए

Uri Attack: बेटे की शहादत पर पिता ने कहा, कुछ भी करो लेकिन सपूतों की कुर्बानी बेकार नहीं जानी चाहिए

शहीद  राकेश सिंह,पत्नी किरण देवी और मां के साथ

शहीद राकेश सिंह,पत्नी किरण देवी और मां के साथ

कैमूर जिले के रहने वाले किसान हरिहर सिंह के पुत्र राकेश सिंह की शहादत की खबर आते ही गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया. बड्डा गांव के किसान हरिहर सिंह के तीन बेटों में से राकेश सिंह सबसे छोटे थे. राकेश ने 8 साल पहले यानि 15 सितम्बर 2008 को लेह में आर्मी ज्वाइन किया था. राकेश की शादी 2012 में हुई थी.

  • Share this:
जम्मू-कश्मीर के उरी में हुए आतंकी हमले में बिहार के तीन जवान शहीद हुए हैं. शहीद जवानों में से एक जवान कैमूर जिले का भी है.

जिले के नुआंव प्रखंड के बड्डा गांव के रहने वाले शहीद सिंह उरी में वीरगति को प्राप्त हुए. किसान हरिहर सिंह के पुत्र राकेश सिंह की शहादत की खबर आते ही गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया. बड्डा गांव के किसान हरिहर सिंह के तीन बेटों में से राकेश सिंह सबसे छोटे थे.

राकेश ने 8 साल पहले यानि 15 सितम्बर 2008 को लेह में आर्मी ज्वाइन किया था. राकेश की शादी 2012 में हुई थी. पति की मौत से जहां पत्नी किरण बेसुध हैं वहीं दो साल का बच्चा पिता की कुर्बानी से अनभिज्ञ है. अपने बेटे की शहादत पर जहां पिता को गर्व महसूस हो रहा है तो बड़े भाई भी छोटे भाई की क़ुर्बानी पर गर्व महसूस करते हुए अपने बेटों को सेना में भेजने के लिए तैयार करने की बात करते दिखे.

शहीद राकेश की तस्वीर
शहीद राकेश की तस्वीर


छोटे बेटे की शहादत के बाद पिता ने सरकार से जवाबी कार्रवाई की मांग की ताकि बेटे की शहादत के व्यर्थ न जा सके. गांव के लोगों को अपने वीर सपूत के शव आने का इंतजार है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज