सासाराम में गहराया COVID-19 का खतरा, 5 दिनों में 1 से 31 हुए कोरोना संक्रमित मरीज

सासाराम के नारायण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में 28 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है.

सासाराम के नारायण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में 28 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है.

बिहार (Bihar) के सासाराम (Sasaram) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण का पहला मरीज 22 अप्रैल को सामने आया था.

  • Share this:

रोहतास. बिहार (Bihar) के सासाराम (Sasaram) में कोविड-19 का खतरा गहराने लगा है. बीते पांच दिनों में यहां कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित मरीजों की संख्‍या 1 से 31 हो गई है. सासाराम में कोरोना संक्रमण का पहला मरीज 22 अप्रैल को सामने आया था. वहीं, सासाराम में कोरोना वायरस का बढ़ता संक्रमण देख अब रोहतास (Rohtas) जिला प्रशासन पूरी तरह से एक्शन में आ गया है. नगर के ज्यादातर मोहल्लों को सील कर आवागमन को पूरी तरह बाधित कर दिया गया है. संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए ना ही लोगों को इलाके से बाहर निकलने दिया जा रहा है और ना ही किसी को अंदर प्रवेश करने की इजाजत दी जा रही है. वहीं, खतरा सिर तक आने के बाद अब जिला प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग के एडवाइजरी के अनुसार काम करना शुरू कर दिया है.

एक महिला से शुरू हुई कोरोना का चेन

सासाराम नगर परिषद क्षेत्र के एक रिहायशी इलाके से एक 60 वर्षीय महिला से संक्रमण की चेन शुरू हुई है. इस बुजुर्ग महिला के संपर्क में आने से इनके परिवार के छह अन्‍य सदस्‍य भी संक्रमित हो गए हैं. साथ ही, इनके संपर्क में आने वाले कई लोग कोरोना से संक्रमित हो गए. इतना ही नहीं, जिस निजी चिकित्सक के यहां यह बुजुर्ग महिला इलाज के लिए भर्ती हुई थीं, उस अस्पताल के कई चिकित्‍सक, स्‍टाफ और उनके परिजन भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं. बात यहीं खत्‍म नहीं होती है. उक्त महिला का कोरोना चेन कैमूर जिला से भी जुड़ गया है और वहां भी कई लोग संक्रमित हो गए हैं.

सासाराम बना कोरोना का रेड जोन
लगातार हो रहे संक्रमण के बाद सरकार ने सासाराम को कोरोना संक्रमण का रेड जोन घोषित कर दिया है. जिसके बाद, सासाराम नगर परिषद क्षेत्र के कई मोहल्लों को सील कर दिया गया है. इसके अलावा, चेनारी के आलमपुर, कोचस, राजपुर, अगरेर, करगहर, डेहरी ऑन सोन तथा मानी को भी रेड जोन में शामिल कर दिया गया है. बता दें कि इन इलाकों से कोरोना का पॉजिटिव मरीज मिले हैं. सूत्र बताते हैं कि सासाराम में मिले 31 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में 25 का तार पहली कोरोना पॉजिटिव महिला से जुड़ा हुआ है.

28 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का हो रहा सासाराम में इलाज

सासाराम के नारायण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में 28 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है. वहीं, तीन मरीज पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती हैं. इतना ही नहीं, 200 से अधिक संदिग्ध लोगों को नारायण मेडिकल कॉलेज में ही क्वॉरेंटाइन किया गया है. इनमें ज्यादातर ऐसे लोग हैं, जो पॉजिटिव मरीजों के रिश्तेदार हैं या फिर किसी न किसी रूप में उनके संपर्क में आए हैं. स्वास्थ्य विभाग इन लोगों के भी कोरोना सैंपल जांच करवा रही हैं. एनएमसीएच, जमुहार के प्रबंध निदेशक त्रिविक्रम नारायण सिंह ने बताया कि सरकार के तमाम गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है.



क्या कहते हैं अधिकारी?

इस संबंध में डीएम पंकज दीक्षित ने लोगों से अपील किया है कि वह लोग धैर्य बनाए रखें. इस विषम परिस्थिति में घबराने की कोई जरूरत नहीं है, स्थित पूरी तरह नियंत्रण में है. उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन पूरी मुस्तैदी के साथ कोरोना के इस संकट से लड़ रहा है, जिसमें सबका सहयोग अपेक्षित है. सिविल सर्जन डॉ. जनार्दन शर्मा का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग के लोग पूरे स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं तथा जरा भी संदिग्ध पाए जाने वाले लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा जा रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज