गुड न्यूज! रोहतास में कोरोना के 31 मरीजों ने जीती जिंदगी की जंग, अब भी 117 एक्टिव
Rohtas News in Hindi

गुड न्यूज! रोहतास में कोरोना के 31 मरीजों ने जीती जिंदगी की जंग, अब भी 117 एक्टिव
रोहतास में कोरोना के 31 मरीज स्वस्थ होकर घर लौटे.

डिस्चार्ज हुए 31 मरीज के बाद अब रोहतास जिला में कोरोना के सक्रिय मरीज (Active corona patients) की संख्या 117 है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
रोहतास. जिले में जिस रफ्तार से कोरोना संक्रमण से पीड़ित मरीजों की संख्या बढ़ रही है उसी रफ्तार से मरीजों के ठीक होने का भी सिलसिला चल रहा है. दरअसल रोहतास जिला (Rohtas) में पहला कोरोना संक्रमण (Corona infection) का मामला 22 अप्रैल को मिला था. जिस महिला में यह संक्रमण पाया गया था. वह महिला भी ठीक हो कर घर चली गई है. गुरुवार को जिन 31 मरीजों को छुट्टी दी गई है. उनमें जिनमें से कई बच्चे तथा महिलाएं भी हैं. बता दें कि अब भी जमुहार के मेडिकल कॉलेज में कुल 117 कोरोना के सक्रिय मरीज का इलाज चल रहा है. जिस वक्त कोरोना के मरीज ठीक हो कर घर जाने लगे तो चिकित्सकों और अस्पताल कर्मियों ने ताली बजाकर उनलोगों को विदा किया. इस दौरान अस्पताल प्रबंधन द्वारा सभी को उपहार भी दी गई.

रोहतास जिला में बचे कुल 117 एक्टिव पेशेंट
गुरुवार को डिस्चार्ज हुए 31 मरीज के बाद अब रोहतास जिला में कोरोना के सक्रिय मरीज की संख्या 117 है. जिनका इलाज डेहरी के नारायण मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में चल रहा है. इस मेडिकल कॉलेज से लगातार पॉजिटिव मरीज ठीक होकर घर लौट रहे हैं. हालांकि  जिस तरह से कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है. उससे भी जिला प्रशासन चिंतित है. इसके लिए जिला के विभिन्न भागों को कंटेनमेंट जोन बनाकर रखा गया है. ताकि संक्रमण के खतरे को कम किया जा सके.

डिस्चार्ज हुए सभी लोग है प्रवासी



बता दें कि गुरुवार को  31 मरीज ठीक होकर डिस्चार्ज हुए वे सभी प्रवासी हैं. ये लोग दूसरे प्रांतों से बिहार लौटे थे. इन सभी को क्वारंटाइन सेंटरों में रखा गया था. बाद में संक्रमण के लक्षण पाए जाने के बाद इन लोगों का सैंपल कलेक्शन किया गया. जिसमें पॉजिटिव आने के बाद सभी को मेडिकल कॉलेज जमुहार में भर्ती कराया गया था. जहां इलाज के बाद ठीक होकर यह लोग अपने अपने घर चले गए.



क्या कहते हैं मेडिकल कॉलेज के सचिव ?
रोहतास जिला के वरदान साबित हो चुके नारायण मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के सचिव गोविंद नारायण सिंह कहते हैं कि उनके कॉलेज का सौभाग्य है कि इतनी संख्या में कोरोना पॉजिटिव मरीज ठीक होकर अपने अपने घर लौट रहे हैं. इससे कॉलेज प्रबंधन के अलावे जितने भी डॉक्टर तथा मेडिकल स्टाफ हैं सभी संतुष्ट हैं. उन्होंने कहा कि यह चुनौती एक अवसर लेकर आया है. इसमें हम बेहतर प्रदर्शन कर ज्यादा से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीजों को ठीक करने का प्रयास कर रहे हैं। जिसमें लगातार सफलता मिल रही है.

ये भी पढ़ें

रुदाली गा रही हैं वंशवादी पार्टियां', सुशील मोदी ने 'गांधी' पर कही ये बात

क्या कोरोना से ऐसे जीतेगा बिहार? मुजफ्फरपुर में सोशल डिस्टेंसिंग बना मजाक, प्रशासन बना मूकदर्शक
First published: May 28, 2020, 8:51 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading