'बिहार में का बा' का पीएम मोदी ने पहली ही रैली में दिया जवाब तो सीएम नीतीश के चेहरे पर दिखा सुकून, जानें क्या कहा

एक मंच पर पीएम मोदी और सीएम नीतीश कुमार.
एक मंच पर पीएम मोदी और सीएम नीतीश कुमार.

Bihar Assembly Elections 2020: सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की मौजूदगी में पीएम मोदी (PM Modi) ने अपने भाषण की शुरुआत भोजपुरी से करते हुए बिहार को स्‍वाभिमान की धरती बताया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 2:46 PM IST
  • Share this:
रोहतास. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने शुक्रवार से बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) के लिए प्रचार अभियान की शुरुआत कर दी है. इस क्रम में उन्होंने अपना पहला संबोधन सासाराम के डेहरी में दिया और बिहार चुनाव से जुड़ी कई बातों का सांकेतिक रूप से जवाब भी दिया. हाल के दिनों में सोशल मीडिया पर कैमूर की लोक गायिका नेहा सिंह राठौर (Neha Singh Rathore) के एक गाने की खूब धूम मची हुई है. इसमें सूबे की बदहाली, बेरोजगारी जैसी तमाम समस्याओं पर सवाल उठाते हुए वह पूछती हैं- बिहार में का बा?. डेहरी की रैली में पीएम मोदी ने सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की मौजूदगी में ही इसका जवाब बड़े ही सधे अंदाज में दिया. हालांकि, पीएम ने अपने संबोधन में किसी का नाम नहीं लिया, लेकिन उनका जवाब ऐसा था कि एकबारगी यही लगा कि यह 'बिहार में का बा?' का ही जवाब है.

दरअसल, पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत भोजपुरी से करते हुए बिहार को स्‍वाभिमान की धरती बताया. उन्‍होंने कहा, 'बिहार के स्‍वाभिमानी और मेहनती भाई बहन आप सब के प्रणाम. अन्‍नदाता, मेहनतकश, किसान भाई-बहन लोग के ई धान के कटोरा कहल जाये गौरवशाली धरती के हम नमन करत बानी. मां मुंडेश्‍वरी ताराचंडी माता के ई पावन भूमि पर रऊरा सबकर अभिनंदन करत बानी.' इसके बाद पीएम ने भोजपुरी में एक-एक कर बिहार की कई खूबियां गिनाईं. वह बोले, 'भारत के सम्मान बा बिहार, भारत के स्वाभिमान बा बिहार, भारत के संस्कार बा बिहार, संपूर्ण क्रांति के शंखनाद बा बिहार, आत्मनिर्भर भारत के परचम बा बिहार.'

पीएम मोदी जब तक यह सब कहते रहे मैदान में मोदी-मोदी के नारे गूंजते रहे. विपक्ष के हमलों को लगातार झेल रहे सीएम नीतीश भी कुछ सुकून महसूस करते दिखे. यहां पीएम मोदी ने बिहार में नीतीश सरकार की प्रशंसा की और कहा कि अब इसे कोई बीमारू राज्‍य नहीं कह सकता है. नीतीश राज में आज हर घर में बिजली है, सड़क है और गरीबों की सुध लेने वाली सरकार है. बिहार अंधेरे से उजाले की ओर जा रहा है.



बता दें कि पीएम ने सांकेतिक भाषा में चिराग पासवान के लिए भी कुछ संकेत दिए हैं. उन्होंने अपने भाषण में यह जताने की कोशिश की कि चुनाव बाद भाजपा-लोजपा सरकार को लेकर कही जा रही बात कन्फ्यूजन पैदा करने के लिए है. उन्होंने कहा कि बिहार के लोगों की खासियत है कि वे कभी कन्फ्यूज़ नहीं होते हैं. बिहार में फिर एक बार नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार बनने जा रही है, लेकिन कुछ लोग भ्रम फैलाने में लग जाते हैं. बिहार का मतदाता भ्रम फैलाने वालों को खुद ही नाकाम कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज