Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    प्रचार के अंतिम दिन तेजस्वी ने खेला 'जाति कार्ड', मंच से सवर्णों को लेकर कह दी यह बड़ी बात

    महागठबंधन के CM उम्मीदवार तेजस्वी यादव पहले चरण के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन रोहतास में जनसभा को संबोधित करते हुए (फोटो: ANI)
    महागठबंधन के CM उम्मीदवार तेजस्वी यादव पहले चरण के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन रोहतास में जनसभा को संबोधित करते हुए (फोटो: ANI)

    मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने रोहतास (Rohtas) में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि लालू यादव (Lalu Yadav) का राज था तो गरीब सीना तान कर 'बाबू साहब' के सामने चलते थे. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आएगी तो हम सब लोगों को साथ लेकर चलेंगे

    • News18Hindi
    • Last Updated: October 26, 2020, 10:14 PM IST
    • Share this:
    रोहतास. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) के पहले चरण के मतदान के लिए प्रचार (Election Campaign) का काम खत्म हो गया है. सोमवार को चुनाव प्रचार के अंतिम दिन भी नेताओं और राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप लगाने का दौर जारी रहा. इसी कड़ी में रोहतास (Rohtas) में अपनी जनसभा में महागठबंधन के सीएम उम्मीदवार और आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने मतदान से महज एक दिन पहले इशारों-इशारे में जाति कार्ड (Caste Politics) खेल दिया.

    मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार तेजस्वी यादव ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि लालू यादव का राज था तो गरीब सीना तान कर 'बाबू साहब' के सामने बैठता था. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आएगी तो हम सब लोगों को साथ लेकर चलेंगे. इसके अलावा तेजस्वी ने अपने चिर-परिचित अंदाज में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्हें एक मौका और क्यों दें, जिन्होंने न तो रोजगार दिया और न ही राज्य से गरीबी हटाई.

    तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार लॉकडाउन में बाहर फंसे बिहारियों को राज्य वापस लाने में असफल रहे. उन्होंने उनसे कहा था कि जहां हैं वहीं रहें.





    दरअसल बिहार में राजपूत जाति के लोगों को बाबू साहब कहा जाता है. तेजस्वी के दबी जुबान में सवर्णों पर दिए इस बयान ने चुनावी माहौल को गर्मा दिया है. इससे तेजस्वी के विरोधियों को उनपर हमला बोलने का मौका मिल गया. बीजेपी ने तेजस्वी पर चुनाव को जातियों के आधार पर बांटने का आरोप लगाया.



    विधानसभा चुनाव में NDA गठबंधन और महागठबंधन में है सीधी टक्कर

    बता दें कि बिहार के चुनावी दंगल में एनडीए गठबंधन की महागठबंधन से सीधी टक्कर है. बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन में जेडीयू, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा, विकासशील इंसान पार्टी शामिल हैं. वहीं राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेतृत्व वाले महागठबंधन में कांग्रेस और वामपंथी दल शामिल हैं. केंद्र में एनडीए की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) बिहार में अलग होकर चुनाव लड़ रही है. इसके तहत एलजेपी ने जिन सीटों से जेडीयू चुनाव मैदान में हैं केवल वहां उसके खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारे हैं.

    बिहार में विधानसभा की 243 सीटों के लिए तीन चरणों में चुनाव होना है. इसके तहत प्रथम चरण के लिए 28 अक्टूबर को 71 सीटों पर, दूसरे चरण के लिए तीन नवंबर को 94 सीटों पर और तीसरे चरण के लिए सात नवंबर को 78 सीटों के लिए मतदान होगा. वहीं वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज