• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • रेलवे में नौकरी लगते ही प्रेमी ने मारी पलटी तो प्रेमिका पहुंची थाने, पुलिस ने कराई शादी

रेलवे में नौकरी लगते ही प्रेमी ने मारी पलटी तो प्रेमिका पहुंची थाने, पुलिस ने कराई शादी

लेकिन मामला तब बिगड़ गया जब अभयकांत की रेलवे में नौकरी लग गई.

लेकिन मामला तब बिगड़ गया जब अभयकांत की रेलवे में नौकरी लग गई.

Rohtas News: बिहार के रोहतास में एक प्रेमी जोड़े को अलग करने की कोशिशें परवान नहीं चढ़ सकीं. आठ साल से प्रेम संबंध में बंधे प्रियंका और अभयकांत की महिला थाने में पुलिस ने कराई शादी.

  • Share this:
रोहतास. कहते हैं कि प्रेम में धोखा का कोई स्थान नहीं है. लेकिन अगर प्रेमी- प्रेमिका (Boyfriend Girlfriend) में से कोई एक अगर धोखा देने की सोचे तो दूसरा पीछे हटना नहीं चाहता. बिहार के रोहतास (Rohtas) जिले के दरिहट में ऐसा ही एक मामला सामने आया है. दरीहट के पडूहार गांव की रहने वाली प्रियंका का टंडवा गांव अभयकांत से पिछले 8 सालों से प्रेम संबंध था. दोनों के बीच शारीरिक संबंध भी बन गया था.

लेकिन मामला तब बिगड़ गया जब अभयकांत की रेलवे में नौकरी लग गई. अब उसके परिवार के लोगों की अभयकांत से कई उम्मीदें जुड़ गईं. वह अपने बेटे की शादी अपनी बिरादरी की लड़की से धूमधाम से कराना चाहते थे. लेकिन अभयकांत का दिल और दिमाग प्रियंका पर अटका हुआ था. दोनों ने चुपके- चुपके मंदिर में शादी कर ली और मध्य प्रदेश के कटनी में रेलवे क्वार्टर में खुशी-खुशी रहने लगे. मामला जब अभयकांत के परिवार वालों तक पहुंचा तो हंगामा हो गया. नाराज परिजनों ने दोनों को अलग कर दिया. अभयकांत के पिता विश्वनाथ चौधरी ने अपने बेटे की शादी अपनी बिरादरी में तय कर दी.

थानाध्यक्ष ने कन्यादान किया
इधर, जैसे ही यह खबर प्रियंका को लगी वह डिहरी के महिला थाने पहुंच गई. पुलिस ने पूरे मामले की जांच की. पहले तो दोनों पक्षों को समझाने की कोशिश हुई, लेकिन जब दोनों परिवार राजी नहीं हुए, तो अभयकांत को पुलिस ने थाने बुलाया. वहां अभयकांत ने प्रियंका से प्यार की बात कबूल की और उसके साथ ही शादी करने की इच्छा बताई. इसके बाद पुलिस ने थाने में ही दोनों की शादी का आयोजन किया. थानाध्यक्ष ने बाकायदा कन्यादान किया.

बेटी की तरह अपने थाने से विदाई दी
महिला थाना थानाध्यक्ष माधुरी कुमारी ने पूरी कानूनी प्रक्रिया अपनाते हुए थाना में ही दोनों की अंतरजातीय शादी कराने का योजना बनाई. इस दौरान दोनों पक्षों के कुछ रिश्तेदार बुलाए गए. शादी के जरूरी सामानों की खरीदारी की गई. डिहरी के कई सामाजिक कार्यकर्ता इसमें बाराती बने. वहीं, महिला थाने की पुलिसकर्मी बारातियों का स्वागत करने के लिए गेट पर खड़ी रहीं. पुलिस की मौजूदगी में पंडित जी बुलाए गए और मंत्र उच्चारण के बीच प्रियंका और अभयकांत परिणय सूत्र में बंध गए. महिला थानाध्यक्ष ने दुल्हन बनी प्रियंका का कन्यादान किया और पूरी विधि-विधान से बेटी की तरह उसे विदाई दी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज