सिलाई सीखने जा रही नाबालिग लड़की को अगवा कर चार दिन तक रेप, दोनों आरोपी गिरफ्तार
Rohtas News in Hindi

सिलाई सीखने जा रही नाबालिग लड़की को अगवा कर चार दिन तक रेप, दोनों आरोपी गिरफ्तार
सासाराम सदर अस्पताल में पीड़ित लड़की का मेडिकल जांच करने वाली डॉक्टर ने उसके साथ रेप होने की पुष्टि की है

चेनारी की रहने वाली नाबालिग लड़की घटना वाले दिन सिलाई सीखने जा रही थी. इस दौरान दो युवकों ने उसे अपनी बाइक पर जबरन बिठा लिया और उसे सासाराम (Sasaram) ले गए. यहां किराए के मकान में आरोपियों ने पीड़िता को चार दिन तक बंद रखा और उसके साथ रेप किया (Minor Girl Rape)

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 24, 2020, 9:35 PM IST
  • Share this:
सासाराम. बिहार (Bihar) के रोहतास जिले (Rohtas District) के चेनारी में नाबालिग लड़की का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप (Gangrape) का मामला सामने आया है. दो मनचलों ने 16 साल की लड़की को अगवा कर लिया और उसे एक मकान में कैद कर चार दिन तक दरिंदगी की. यह घटना 18 अगस्त की है. मिली जानकारी के मुताबिक पीड़ित लड़की सिलाई सीखने जा रही थी. इस दौरान दो युवकों ने उसे अपनी बाइक पर जबरन बिठा लिया और उसे सासाराम (Sasaram) ले गए. यहां किराए के मकान में आरोपियों ने पीड़िता को चार दिन तक बंद रखा और उसके साथ रेप (Minor Girl Rape) किया.

पीड़िता के परिजनों ने इस संबंध में 22 अगस्त को चेनारी थाना में शिकायत की. पुलिस ने नामजद एफआईआर दर्ज करते हुए कार्रवाई में अपहृत लड़की को रिहा करवाया. साथ ही आरोपी दोनों युवकों को भी गिरफ्तार किया. पुलिस ने सासाराम सदर अस्पताल में पीड़िता का मेडिकल जांच करवाया है. पुलिस पूरे मामले पर कुछ भी कहने से बच रही है. यहां तक कि पीड़ित लड़की को भी मीडिया से दूर रखने का प्रयास किया जा रहा है.

मेडिकल जांच करने वाली डॉक्टर ने की रेप की पुष्टि



पीड़िता का मेडिकल जांच करने वाली डॉक्टर नीतू कुमारी ने लड़की के साथ रेप की पुष्टि की. उन्होंने कहा कि पीड़िता ने उन्हें पूरे घटनाक्रम के बारे में विस्तार से बताया है. उन्होंने बताया कि लड़की के साथ रेप हुआ है, जो मेडिकल रिपोर्ट में भी स्पष्ट आएगा.
रेप के आरोपी दोनों युवक गिरफ्तार

पुलिस ने आरोपी युवक के साथ उसके साथी को भी गिरफ्तार किया है. दोनों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है. चेनारी थाना में तैनात इंस्पेक्टर अनिल कुमार पीड़ित लड़की को लेकर मेडिकल जांच कराने सदर अस्पताल पहुंचे. इस दौरान सवाल पूछने पर उन्होंने कुछ भी बताने से इनकार किया. उन्होंने यह कहते हुए अपना पल्ला झाड़ लिया कि विशेष जानकारी वरीय अधिकारी ही दे पाएंगे.

इस दौरान जब मीडिया ने पीड़िता का बयान लेना चाहा तो पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोक दिया. बताया जा रहा है कि गरीब परिवार से होने के कारण पीड़ित लड़की के परिजन काफी सहमे हुए हैं. पुलिस के सामने वो भी मीडियाकर्मियों से कुछ भी बोलने से बचते रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज