लाइव टीवी

रोहतासः सिर पर धान का बोझ लेकर ब्लॉक पहुंचे भाजपा नेता, अपनी ही सरकार से मांगा मुआवजा
Rohtas News in Hindi

Ajeet Kumar | News18 Bihar
Updated: December 26, 2019, 9:55 PM IST
रोहतासः सिर पर धान का बोझ लेकर ब्लॉक पहुंचे भाजपा नेता, अपनी ही सरकार से मांगा मुआवजा
भाजपा नेता राजेंद्र सिंह रोहतास के दिनारा प्रखंड कार्यालय में धान का बोझ लेकर पहुंचे.

बिहार (Bihar) में बेमौसम बरसात से खराब हुई फसल की वजह से परेशान किसानों को राहत देने के लिए रोहतास (Rohtas) के भाजपा (BJP) नेता राजेंद्र सिंह (Rajendra Singh) ने किया अनोखा प्रदर्शन. बिहार सरकार से किसानों को मुआवजा (compensation for farmers) देने और ऋण माफ करने की उठाई मांग.

  • Share this:
सासाराम. भाजपा (BJP) के प्रदेश महामंत्री राजेंद्र सिंह (Rajendra Singh) गुरुवार को रोहतास (Rohtas) जिले के दिनारा में अलग ही अंदाज में दिखे. वे अपने समर्थकों के साथ सिर पर धान का बोझ उठाकर प्रखंड कार्यालय पहुंच गए और सरकार (Bihar Government) से मुआवजे की मांग की. जिले में बेमौसम बरसात के कारण जिन किसानों की फसलें चौपट हो गई हैं, उनके हित में अपनी बात रखने को भाजपा नेता ने यह तरीका अपनाया था. ब्लॉक कार्यालय में पहुंचे राजेंद्र सिंह ने कहा कि बेमौसम बारिश की वजह से किसानों का धान बर्बाद हो गया है. इसीलिए कम से कम प्रति एकड़ 10 हजार रुपए मुआवजा (compensation for farmers) दिया जाए. साथ ही एक साल तक किसानों से किसी भी ऋण की वसूली नहीं की जाए.

भाजपा नेता ने कहा कि सरकार खराब हो चुके धान को भी उचित कीमत पर खरीद ले, ताकि किसानों को राहत मिल सके. उन्होंने कहा कि यह कोई धरना-प्रदर्शन नहीं है, वे किसानों की समस्या को लेकर प्रखंड कार्यालय पहुंचे हैं. उन्होंने कहा कि धान बर्बाद हो गया और बुवाई के बाद गेहूं भी खेत में ही सड़ने लगा है. किसानों का खाद-बीज सब बर्बाद हो गया है, ऐसे में किसानों को राहत की आवश्यकता है.

दो लाख हेक्टेयर भूमि में खेती
रोहतास जिले में दो लाख हेक्टेयर भूमि में धान की खेती होती है. लेकिन इस बार जैसे ही किसानों ने अपने धान कि कटनी शुरू की, इसके साथ ही लगातार चार-पांच दिनों तक बारिश होती रही. बेमौसम बरसात ने किसानों को बर्बाद करके रख दिया. ज्यादातर धान की फसल खलिहान में ही पड़ी थी, लिहाजा बारिश में फसल भीग गई. इससे एक तरफ जहां खलिहान में रखे धान काले पड़ गए, वहीं, खेत में खड़ी फसल भी चौपट हो गई. किसानों का कहना है कि अब इस धान का कोई खरीदार नहीं रहा. किसानों को धान बेचने के लिए उसे सुखाकर उसकी नमी कम करनी पड़ती है. पैक्स भी धान खरीदने के लिए कम से कम 17% से कम नमी वाले धान को ही खरीदती है. ऐसे में मौसम की मार ने किसानों की समस्या और बढ़ा दी.

सरकार से की मांग
भाजपा के प्रदेश महामंत्री राजेंद्र सिंह ने कहा कि बेमौसम बरसात की वजह से रोहतास जिले का करगहर, कोचस, चेनारी तथा दिनारा का इलाका काफी प्रभावित हुआ है. ऐसे में किसानों की समस्या को लेकर वे चिंतित हैं. इस कारण ही सांकेतिक रूप से धान का बोझ लेकर प्रखंड कार्यालय पहुंचे, ताकि अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट किया जाए. उन्होंने यह भी कहा कि यह कोई धरना-प्रदर्शन नहीं है. सरकार से अनुरोध है कि वह किसानों के संकट की ओर ध्यान दे. अगर एक सप्ताह के अंदर जिला प्रशासन ने इस ओर ध्यान नहीं दिया तो जिले के सभी 19 प्रखंडों पर किसान धान का बोझ लेकर पहुंचेंगे. आपको बता दें कि राजेंद्र सिंह पिछले विधानसभा चुनाव में दिनारा सीट से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़े थे. मगर जदयू के जय कुमार सिंह ने उन्हें हरा दिया था. जय कुमार सिंह अभी बिहार सरकार में मंत्री हैं.

ये भी पढ़ें - 

बिहारः झारखंड के नतीजों से उबरे नहीं हैं राजग और महागठबंधन, जारी है बयानों की जंग

 

RJD विधायक ने बांधे CM नीतीश कुमार की शान में 'तारीफों के पुल', हैरान रह गए लोग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रोहतास से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 26, 2019, 9:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर