Lockdown: जंगल से भटक कर आए काले हिरण की हत्या, सींग भी उखाड़ ले गए शिकारी

रोहतास जिले में काले हिरण की हत्या से सनसनी

रोहतास जिले में काले हिरण की हत्या से सनसनी

ग्रामीणों ने थाना के ड्राइवर पर ही शिकार (Poaching) करने का गंभीर आरोप लगाया. वन विभाग के अधिकारी जीप चालक से पूछताछ में जुटे हैं.

  • Share this:

सासाराम. कोरोना वायरस के संक्रमण (Coronavirus infection) के बाद हुए लॉकडउन से मानवीय गतिविधियां शिथिल हुई हैं. ऐसे में जंगली जानवर मैदानी इलाके में भी विचरण करते देखे जा रहे हैं, लेकिन जंगली जीव जंतुओं का इस लॉकडाउन पीरियड में भी शिकार करने वालों की कमी नहीं है. रोहतास जिला के बघेला ओपी अंतर्गत राजपुर के पडरिया में गेहूं के खेत में एक काला हिरण (Black Deer) मृत पाया गया है. उसके शरीर पर जख्म के कई निशान मिले हैं. गर्दन तथा शरीर के पिछले भाग में गंभीर चोट तथा खून टपकता मिला. साथ ही काले हिरण के सिर से सिंग भी गायब मिले. इससे ऐसा प्रतीत होता है कि जंगली इलाके से भटक कर मैदानी इलाके में आ गए काले हिरण की किसी ने हत्या कर दी और उसके सिर से कीमती सिंग भी उखाड़ ले गए.

ग्रामीणों ने बघेला थाना का सरकारी जीप चलाने वाले ड्राइवर नीरज दुबे को इसके लिए जिम्मेवार ठहराया है. ग्रामीणों ने थाना के ड्राइवर पर ही शिकार करने का गंभीर आरोप लगाया है, जिसके बाद वन विभाग के अधिकारी जीप चालक से पूछताछ कर रहे हैं. ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि काले हिरण को गोली मारी गई है.

काले हिरण का हुआ पोस्टमार्टम

वन विभाग के रेंजर सत्येंद्र शर्मा की देखरेख में काले हिरण का पोस्टमार्टम कराया गया. राजपुर के पशु चिकित्सालय में मेडिकल परीक्षण हुआ. प्रथम दृष्टया स्पष्ट हुआ की काले हिरण की मौत अंदरूनी चोट की वजह से हुई है. उसके शरीर के कई भागों में गहरा आघात किया गया, जिसके कारण उसकी मौत हुई. मरने के बाद उसके सिर के सिंग भी उखाड़ लिए गए.
विलुप्तप्राय जीव में है शामिल



काले हिरण को भारतीय वन्य जीव संरक्षण अधिनियम में विलुप्त प्राय जीव में शामिल किया गया है. यह एक दुर्लभ प्रजाति का हिरण है. वैज्ञानिक दृष्टिकोण से यह जीनस एंटीलोप वर्ग का प्राणी है, जो अपने वर्ग का अंतिम जीवित प्राणी माना जाता है. भारत सरकार इसके संरक्षण के लिए लगातार अभियान चला रही है. एक सर्वे के अनुसार 1970 में भारत में काले हिरण की संख्या मात्र 25 हज़ार रह गई थी, लेकिन बाद के दिनों में लगातार हुए संरक्षण के बाद फिलहाल इसकी संख्या 50 हज़ार के आसपास है.

काले हिरण के मामले में सलमान खान भी जा चुके हैं जेल

काले हिरण की मौत को लेकर देश का कानून कितना सजग है, इसका अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि प्रसिद्ध अभिनेता सलमान खान भी इसके शिकार को लेकर जेल जा चुके हैं. वहीं, कई अभिनेता-अभिनेत्रियां भी इसके शिकार के लेकर मुकदमा झेल रहे हैं. बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान के प्रकार को लेकर काले हिरन की चर्चा पूरे दुनिया में हुई थी, जिसके बाद इस दुर्लभ जीव के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए सभी बहुत से लोग इच्छुक हुए थे.

पौराणिक मान्यताओं में भी है काले हिरण की चर्चा

काले हिरण की चर्चा पौराणिक मान्यताओं में भी है. भगवान श्री कृष्ण का रथ काले हिरण खींचा करते थे. इसके अलावा वायु, सोम तथा चंद्र का काला हिरण ही वाहन बताए गए हैं. बता दें कि प्राचीन ग्रंथों में काले हिरण को 'कृष्ण मृग' कहा जाता हैं. वहीं राजस्थान की करणी माता भी 'कृष्ण मृग' की संरक्षक मानी जाती हैं.

ये भी पढ़ें

COVID-19 UPDATE: पटना के दो नए मोहल्लों में कोरोना की एंट्री, बिहार में 425 पहुंचा आंकड़ा

COVID-19: सचिवालय में कोरोना ने दी दस्तक, दो चीफ इंजीनियर क्‍वारंटाइन में भेजे गए

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज