रोहतास में पुलिस-पब्लिक भिड़ंत, लाठीचार्ज के बाद करनी पड़ी हवाई फायरिंग

आक्रोशित ग्रामीण मुआवजा की मांग कर रहे हैं. डेहरी के एसडीपीओ संजय कुमार का कहना है कि सरोज गुप्ता शराब कारोबारी था तथा पहले भी शराब को लेकर उस पर केस हो चुका था.

News18 Bihar
Updated: July 30, 2019, 3:03 PM IST
रोहतास में पुलिस-पब्लिक भिड़ंत, लाठीचार्ज के बाद करनी पड़ी हवाई फायरिंग
रोहतास में उपद्रव के बाद मौके पर जमा भीड़
News18 Bihar
Updated: July 30, 2019, 3:03 PM IST
बिहार का रोहतास जिला उस समय रणक्षेत्र में बदल गया जब इंद्रपुरी इलाके में पुलिस-पब्लिक आपस में भिड़ गई. पब्लिक ने जहां पुलिस पर पथराव किया वहीं पुलिस ने भी लाठीचार्ज और हवाई फायरिंग की.  लोगों के पथराव और हंगामा के कारण पुलिस के कई गाड़ियों के शीशे टूट गए वहीं पुलिसकर्मियों को उल्टे पांव भागना पड़ा.

मौके पर पहुंची चार थाना की पुलिस

मौके की नजाकत को देखते हुए तिलौथू, इंद्रपुरी, डेहरी, डालमियानगर सहित कई थानों की पुलिस एकत्र हो गई और उपद्रव मचा रहे लोगों को खदेड़ा साथ ही कई चक्र हवाई फायरिंग भी की. बताया जाता है कि सोमवार को पुलिस के भय से एक युवक इंद्रपुरी के भलुआही के पास नहर में कूद गया था. मंगलवार को जब उसका शव भैसही पुल के पास बरामद हुआ तो हंगामा मच गया.

शव देखकर भड़के लोग

लोगों का कहना है कि पुलिस के खदेड़ने के कारण ही सरोज कुमार गुप्ता की जान गई है. शव मिलने की सूचना के बाद पुलिस जब मौके पर पहुंची तो लोग उग्र हो गए तथा पुलिस पर पथराव कर दिया जिसमें इंद्रपुरी पुलिस की दो गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गईं और उसके शीशे टूट गए. आक्रोशित भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने कई चक्र हवाई फायरिंग भी की.

आक्रोशित लोगों पर फायरिंग करती पुलिस


शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा
Loading...

किसी तरह से लोगों को समझा-बुझाकर शव को पुलिस ने कब्जे में लिया तथा उसे पोस्टमार्टम के लिए सासाराम के सदर अस्पताल भेजा. पुलिस मृतक सरोज कुमार गुप्ता को शराब कारोबारी बता रही है।. पुलिस का कहना है कि सरोज गुप्ता इन्द्रपुरी ओपी थाना पुलिस का वांछित था तथा उसके गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने जब उसे खदेड़ा तो बचने के लिये वो नहर में कूद गया जिससे उसकी मौत हो गई.

मुआवजे की मांग

आक्रोशित ग्रामीण मुआवजा की मांग कर रहे हैं. डेहरी के एसडीपीओ संजय कुमार का कहना है कि सरोज गुप्ता शराब कारोबारी था तथा पहले भी शराब को लेकर उस पर केस हो चुका था. उसके अन्य भाइयों पर भी शराब कारोबारी में संलिप्त रहने का आरोप है. वार्ड सदस्य रविंद्र कुमार का कहना है कि मृतक काफी गरीब था और उसके छोटे बच्चे भी हैं. मृतक के पिता भी नहीं हैं ऐसे में परिवार के भरण-पोषण के लिए प्रशासन को मदद करनी चाहिए.

रिपोर्ट- अजीत कुमार
First published: July 30, 2019, 3:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...