Assembly Banner 2021

Rohtas News: 2 दिन में 4 लोगों की संदिग्ध मौत, दो हुए अंधे, ग्रामीण बोले- जहरीली शराब बन रही काल

सुरेंद्र पाल और विजय सिंह अंधे हो गए हैं.

सुरेंद्र पाल और विजय सिंह अंधे हो गए हैं.

रोहतास (Rohtas) में पिछले दो दिन में 4 लोगों की संदिग्ध मौत से हड़कंप मचा हुआ है. जबकि दो लोग अंधे हुए हैं. इसके बीच जहरीली शराब बताई जा रही है. इसके अलावा ग्रामीण भी जहरीली शराब को ही जिम्‍मेदार ठहरा रहे हैं.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: February 25, 2021, 10:05 PM IST
  • Share this:
रोहतास. बिहार के रोहतास (Rohtas) के करगहर और परसथुआ इलाके में पिछले दो दिनों में चार लोगों की संदिग्ध रूप से मौत से हड़कंप मचा हुआ है. जबकि दो लोगों की आंखों की रोशनी चली गई है. वहीं, अंधे हो चुके एक शख्स ने शराब पीने की बात स्वीकारी है. हालांकि किसी की मौत का प्रशासनिक रूप से स्पष्ट कारण अब तक नहीं पता चला है. वैसे इलाके में ऐसी चर्चा है कि यह जहरीली शराब (Poisonous Liquor) के सेवन से जुड़ा हुआ मामला है.

जानकारी के अनुसार, करगहर थाना क्षेत्र के बहुआरा और खरेज के साथ परसथुआ ओपी क्षेत्र के भगवानपुर व बसतलवा में लोगों की मौत हुई है. मृतकों में एक जन वितरण प्रणाली का दुकानदार भी है. वहीं, दिनारा के रहने वाले पशु चिकित्सक विपिन सिंह की भी संदिग्ध परिस्थिति में ही मौत हुई है. पिछले दो-तीन दिनों में चार लोगों की मौत से इलाके में सनसनी फैली हुई है. मरने वालों में बहुआरा के दीपक सिंह, बसतलवा गांव के पीडीएस डीलर सुदामा नाम, भगवानपुर गांव में रह रहे दिनारा के विश्रामपुर गांव के निवासी विपिन सिंह और खरेज गांव के अरुण सिंह शामिल हैं. सबसे बड़ी बात है कि भगवानपुर गांव के विजय सिंह और शोभीपुर के सुरेंद्र पाल की आंख की रोशनी चली गई है.

बहरहाल, दिनारा के बिश्रामपुर के रहने वाले विपिन सिंह के शव का पुलिस ने पोस्टमार्टम भी कराया है. इसके अलावा बसतलवा के पीडीएस डीलर सुदामा राम के भाई जगदीश राम ने बताया कि उनके भाई तो शराब पिया करते थे और मौत से कुछ दिन पहले उन्होंने शराब पी थी. अचानक उनकी तबीयत बिगड़ी तो उन्हें डॉक्टर के पास ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई. गांव के ही राधिका रमन दुबे कहते हैं कि करगहर थाना क्षेत्र के बहुआरा, तेंदूनी, लोकनाथपुर, धनेज आदि इलाके में खुलेआम शराब की बिक्री होती है. ग्रामीण कहते हैं कि शराब पीने से इलाके में लगातार मौतें हो रही हैं. यही नहीं, अलग-अलग गांव में अलग-अलग समय पर संदिग्ध परिस्थिति में लोगों की मौत हुई है. इस मामले में फिलहाल कोई भी प्रशासनिक पदाधिकारी कुछ भी कहना नहीं चाह रहा है, लेकिन इलाके में चर्चा है कि शराब ही इन लोगों की मौत का कारण बनी है. फिलहाल पूरा मामला जांच का है



जबकि सुरेंद्र पाल की आंखों की रोशनी चली गई है. पाल ने स्वीकार किया है कि उसने शराब पी थी, वह वाराणसी से शराब पीकर आया था. वहीं, भगवानपुर गांव के विजय सिंह की भी आंखों की भी रोशनी चली गई है. जबकि उसने स्‍वीकार किया है कि पशु चिकित्सक विपिन सिंह की तबीयत बिगड़ने से लेकर उसकी मौत के समय वह साथ था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज