बालू घाट के विवाद में पूर्व मंत्री के करीबी की हत्या, छह दिन पहले मारी गई थी गोलियां

बिहार के रोहतास में मारे गए मुखिया पति की फाइल फोटो
बिहार के रोहतास में मारे गए मुखिया पति की फाइल फोटो

बिहार के रोहतास (Rohtas) में हुई हत्या (Murder) की इस घटना में अब तक 4 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है जबकि मास्टरमाइंड और मृतक पप्पू यादव का ही चचेरा भाई पंकज यादव अभी भी फरार है.

  • Share this:
रोहतास. बिहार के रोहतास (Rohtas) में बालू घाट को लेकर हुए विवाद में पूर्व मंत्री के करीबी की हत्या (Murder) कर दी गई है. 25 तारीख की रात क्वॉरेंटाइन सेंटर से घर लौटने के दौरान चार की संख्या में घात लगाए अपराधियों ने मुखिया पति (Mukhia Husband) पप्पू यादव को दो गोलियां मारी थी जिसके बाद उनको इलाज के लिए वाराणसी भेजा गया था जहां उनकी मौत हो गई.

बालू घाट से जुड़ा है मामला

पूरा मामला बालू घाट विवाद से जुड़ा है. दरअसल रोहतास के चकन्हा में बालू के कारोबार में इस घटना को अंजाम दिया गया था जिसके बाद रोहतास जिला के इंद्रपुरी थाना अंतर्गत चकन्हा में तनाव बढ़ गया है. भारी संख्या में गांव में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई हैं. मृतक पप्पू यादव चकन्हा पंचायत के मुखिया पूनम देवी के पति थे तथा बालू के कारोबार से जुड़े थे. मामले में अब तक 4 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है जबकि मास्टरमाइंड और मृतक पप्पू यादव का ही चचेरा भाई पंकज यादव अभी भी फरार है.



चचेरे भाई से ही था विवाद
डिहरी के एएसपी संजय कुमार ने बताया कि बालू घाट को लेकर दोनों चचेरे भाइयों में विवाद चल रहा था. आरोपी पंकज यादव भी बालू घाट लेना चाहता था लेकिन मुखिया पति होने के कारण पप्पू हमेशा उस पर भारी पड़ता था और इस बार भी बालू ठेका देने वाली कंपनी से पप्पू यादव ने बालू का घाट ले लिया था जिसको लेकर उसके चचेरे भाई पंकज से उसकी रंजिश हो गई थी. इसी रंजिश में पप्पू यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई. पप्पू के सिर में भी गोली लगी थी. वो पिछले 5 दिनों से जिंदगी और मौत से जूझ रहा था लेकिन अंततः वाराणसी में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

मौत की खबर मिलते ही गांव में सनसनी

घटना के बाद मौत की सूचना मिलते ही पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है. आपसी तनाव को देखते हुए गांव में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई हैं. एएसपी संजय कुमार खुद गांव में बने हुए हैं. मुखिया पति के आवास के आसपास पुलिस बल की तैनाती की गई है साथ ही गांव के विभिन्न चौक चौराहों पर पुलिस गश्त कर रही है. मुखिया पति के मौत की खबर मिलते ही बहुत से लोग सड़क पर आ गए थे जिनको पुलिस ने लॉक डाउन में समझा-बुझाकर घरों में भेजा.

पत्नी पूनम देवी हैं पंचायत की मुखिया

मृतक पप्पू यादव की पत्नी पूनम यादव चकन्हा पंचायत की मुखिया हैं. आसपास के गांव में पप्पू यादव का दबदबा था. वो सामाजिक कार्यों से भी जुड़े थे इसके अलावा लोगों की मदद भी करते थे. जनप्रतिनिधियों में पप्पू यादव के कारण उसकी पत्नी पूनम मुखिया पूनम देवी की अच्छी पैठ बन गई थी. डेहरी के प्रशासनिक महकमे में भी पप्पू को लोग जानते थे.

राजद के थे कार्यकर्ता

मृतक पप्पू यादव राजद के कार्यकर्ता थे. वो पूर्व मंत्री सह राजद के वरिष्ठ नेता इलियास हुसैन के बेहद करीबी थे. पिछले विधानसभा उपचुनाव में डिहरी में जब इलियास हुसैन के पुत्र फिरोज हुसैन चुनाव मैदान में थे तो पप्पू यादव ही उनके चुनावी गतिविधियों का कमान संभाले हुए थे. इनकी हत्या से राजद कार्यकर्ता में निराशा है तथा वे लोग न्याय की मांग कर रहे हैं. पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. कांति सिंह, अशोक भारद्वाज, विमल सिंह, मनोज सिंह फिरोज हुसैन आदि ने गहरा गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है.

क्या कहती है पुलिस ?

मामले को लेकर एसपी सत्यवीर सिंह ने बताया कि वारदात के बाद चार अपराधियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. इस वारदात को अंजाम देने में मुख्य भूमिका निभाने वाले मास्टरमाइंड की गिरफ्तारी बाकी है. विशेष पुलिस बल के टीम की गठन किया गया है. जल्द ही उसकी गिरफ्तारी होगी. साथ ही मामले में स्पीडी ट्रायल चला कर पीड़ित को जल्द न्याय दिलाया जाएगा.

ये भी पढ़ें- आरा-बक्सर और कैमूर में कोरोना के 18 नए केस, 450 हुई बिहार में मरीजों की संख्या

ये भी पढ़ें- पॉश मशीन की अनिवार्यता को लेकर PDS दुकानदारों ने राशन उठाने से किया मना, खाद्य मंत्री ने दी चेतावनी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज