बिहार: शराब कारोबार में मिली भगत के आरोप में दरोगा गिरफ्तार, सासाराम SP ने की कार्रवाई
Rohtas News in Hindi

बिहार: शराब कारोबार में मिली भगत के आरोप में दरोगा गिरफ्तार, सासाराम SP ने की कार्रवाई
शराब कारोबार में लिप्त दरोगा पकड़ा गया

नोखा थाना के दरोगा प्रमोद यादव को शराब कारोबार में संलिप्ता के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. दरोगा की गिरफ्तारी (arrest) की पूरे ज़िले में चर्चा है.

  • Share this:
सासाराम. पिछले दिनों बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे (Gupteshwar Pandey) ने कहा था कि बिना थाना के मिलीभगत से शराब (Liquor) की एक बोतल भी बेची और खरीदी नहीं जा सकती. डीजीपी का ये संवाद सत्य प्रतीत होता है. नोखा थाना में पदस्थ दरोगा प्रमोद कुमार पर शराब के कारोबारियों के साथ मिलीभगत का का आरोप लगा है. आरोप लगाया गया है कि प्रमोद कुमार शराब की खेप लाने और ले जाने में मदद करते थे.

एसपी ने किया गिरफ्तार
18 मार्च की रात नोखा थाना क्षेत्र के जखनी पुल रास्ते पर एक शराब से भरी एक पिकप को पकड़ा गया. पिकअप से 120 कार्टन अंग्रेजी शराब बरामद की गई है. आरोप है कि सब इंस्पेक्टर प्रमोद यादव की ही शह पर ये शराब लाई जा रही थी, लेकिन तब तक यह सूचना जिला मुख्यालय को लग गई तथा उक्त शराब की खेप को पिकअप समेत जब्त कर लिया गया. सूत्रों के मुताबिक प्रमोद यादव के कारनामों पर डीजीपी की टीम की पहले से ही नज़र थी. सूचना मिलने के बाद सत्यवीर सिंह खुद नोखा पहुंचे तथा देर रात तक पूरे मामले की जांच की और अंततः सब इंस्पेक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया.

राइस मिल परिसर से चलता था रैकेट
नोखा में एक प्रसिद्ध राइस मिल के परिसर में ही सब इंस्पेक्टर प्रमोद यादव ने आवास बना रखा था. शराब की पूरी डीलिंग इसी राइस मिल से हुआ करती थी. चर्चा है कि राइस मिल से ही शराब की लोडिंग-अनलोडिंग भी होती है. गुरुवार की रात एसपी सतवीर सिंह ने 2 घंटे तक पूरी राइस मिल को खंगाला. दरोगा के निजी आवास की भी जांच की गई, जहां से कई संदिग्ध वस्तुएं तथा लेनदेन के कागजात मिले हैं.



इलाके में धड़ल्ले से बिक रही थी शराब
आरोपी दरोगा नोखा थाना में पदस्थ था तथा थाने से ही यह अपना पूरा रैकेट चलाता था. नोखा थाना के थानाध्यक्ष नरोत्तम कुमार हैं. एक दरोगा के शराब कारोबार से जुड़े होने के बावजूद थानाध्यक्ष को इसकी भनक नहीं लगना कई सवाल खड़े करता है. बता दें कि नोखा थाना क्षेत्र में धड़ल्ले से शराब बिकने की कई बार खबरें न्यूज़ 18 चला चुका है, लेकिन फिर भी कोई बड़ी कार्रवाई नहीं होने से शराब धंधे में संलिप्त लोगों का मनोबल बढ़ता गया.

विवादों के घेरे में रहा है आरोपी दरोगा
आरोपी दरोगा प्रमोद यादव इससे पहले तिलौथू थाना में पदस्थ था. इस दौरान दरोगा पर कई लोगों ने शराब के झूठे मुकदमों में फंसा देने का आरोप भी लगाया था, जिसके बाद एसपी ने कार्यवाही की थी. तिलौथू थाना से थानाध्यक्ष पद से हटाकर प्रमोद यादव को नोखा थाना में जेएसआई बना दिया गया था. लेकिन फिर भी उसके कारनामे रुकने का नाम नहीं ले रहे थे. आखिरकार दरोगा को गिरफ्तार कर उन्ही के थाने के लॉकअप में रखा गया.

ये भी पढ़ें -
बिहार BJP की नई टीम का ऐलान, कई के कटे पत्ते तो कुछ का हुआ प्रोमोशन
गया: कोराना वायरस के 5 संदिग्ध मरीज और मिले, ANMMCH के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज