• Home
  • »
  • News
  • »
  • bihar
  • »
  • रोहतासः सरकारी दफ्तर में शराब की दुकान चलाता था धर्मराज, पुलिस ने मारा छापा तो हुआ फरार

रोहतासः सरकारी दफ्तर में शराब की दुकान चलाता था धर्मराज, पुलिस ने मारा छापा तो हुआ फरार

रोहतास में सिंचाई विभाग के दफ्तर में शराब कारोबार करने को लेकर पुलिस ने मारा छापा.

रोहतास में सिंचाई विभाग के दफ्तर में शराब कारोबार करने को लेकर पुलिस ने मारा छापा.

रोहतास के दरिहट थाना की पुलिस ने आयरकोठा स्थित सिंचाई विभाग के कार्यालय में छापा मारकर 67 बोतल विदेशी शराब बरामद की. धंधा करने वाले कर्मचारी की हो रही तलाश.

  • Share this:
रोहतास. बिहार में शराबबंदी (Liquor ban) के बावजूद शराब माफिया का मनोबल इतना बढ़ गया है कि अब वह अपनी दुकानें सरकारी कार्यालयों में सजाने लगे हैं. मामला रोहतास (Rohtas) जिले के दरिहट थाने के आयरकोठा का है, जहां सिंचाई विभाग (Irrigation department) के कार्यालय से ही शराब बेचने का धंधे का आज पुलिस ने पर्दाफाश किया. सिंचाई विभाग के कर्मचारी ने कार्यालय में ही शराब बेचने का धंधा शुरू कर लिया था. पुलिस को सूचना मिली तो मंगलवार को छापेमारी की गई. इस दौरान 67 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद की गई, लेकिन शराब बेचने वाला कर्मचारी फरार हो गया. पुलिस ने धंधेबाज कर्मचारी की पहचान कर ली है. उसकी गिरफ्तारी की कोशिश की जा रही है.

कार्यालय से बेचता था खुदरा शराब

रोहतास पुलिस के मुताबिक सिंचाई विभाग के कर्मचारी धर्मराज सिंह पर शराब बेचने का आरोप है. पुलिस ने बताया कि विभाग के कार्यालय से आज छापेमारी के बाद जो शराब बरामद की गई, उसके हिसाब-किताब के कागजात भी मिले हैं. छापेमारी को लेकर दरिहट थाने के इंस्पेक्टर आरपी चौधरी ने बताया कि आरोपी कर्मचारी धर्मराज सिंह मौडिहा का रहने वाला है. उसकी पहचान कर ली गई है और पुलिस उसे तलाश कर रही है. पुलिस इस अवैध धंधे से जुड़े हर शख्स की पहचान करने में जुटी है. मामले की गहराई से छानबीन की जाएगी.

विभाग के अन्य कर्मियों की मिलीभगत की भी आशंका

इंस्पेक्टर ने बताया कि जिस तरह से सिंचाई विभाग के कार्यालय में शराब बेची जा रही थी, उसमें अन्य कर्मचारियों या अधिकारियों की मिलीभगत होने की भी आशंका है. उन्होंने कहा कि सरकारी कार्यालय में बिना किसी अफसर की सहमति के शराब का अवैध कारोबार कैसे किया जा सकता है. पुलिस घटना की हर पहलू से पड़ताल कर रही है. जल्द ही आरोपी कर्मचारी और इस धंधे में शामिल लोगों को दबोचा जाएगा. साथ ही अगर जिले में इस अवैध कारोबार से जुड़े अन्य लोगों की तलाश भी की जा रही है. पुलिस ऐसे सभी अवैध कारोबारियों पर शिकंजा कसेगी.

ये भी पढ़ें-

इसी महीने हो सकता है बिहार विधान परिषद के चुनावों की तारीख का ऐलान

बिहार:तेजस्वी की हुंकार के बाद तेजप्रताप की गुहार, हमें सुरक्षा दे नीतीश सरकार

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज