डेथ सर्टिफिकेट बनाकर भाई ने बेच दी संपत्ति, अब खुद को जिंदा साबित करने के लिए भटक रहे हैं विजय 

खुद को जिंदा साबित करने के लिए भटक रहे विजय सिंह

खुद को जिंदा साबित करने के लिए भटक रहे विजय सिंह

Rohtas News: बिहार के रोहतास में हुई इस घटना के बाद पीड़ित ने एसपी से न्याय की गुहार लगाई है. SP ऑफिस ने गुहार लगाने के बाद इस मामले में पीड़ित के आवेदन पर कार्रवाई शुरू कर दी है.

  • Share this:
रोहतास. बिहार के सासाराम से एक अजीबोगरीब खबर आई है. यहां एक शख्स को अपने जिंदा होने का प्रमाण देने के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है. दरअसल रोहतास जिला के बघैला थाना क्षेत्र के पचपोखरी निवासी विजय कुमार सिंह के भाई ने संपत्ति के लालच में उनका मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा लिया और उनके नाम की संपत्ति को बेच दिया है. अब विजय सिंह अपने जिंदा होने का प्रमाण दे रहे हैं लेकिन कोई मानने को तैयार नहीं है.

बताया जाता है कि विजय सिंह बिस्कोमान में कार्यरत थे लेकिन उसके भाई द्वारा उनको बार-बार प्रताड़ित किया जा रहा था, यहां तक कि उनके वेतन की राशि भी मांगी जा रही थी. अपने आपको तंग तबाह होते देख ले गांव घर छोड़कर अपने एक परिचित के यहां औरंगाबाद जाकर रहने लगे. इसी मौके का फायदा उठाकर विजय सिंह के भाई रंजीत सिंह ने नोखा प्रखंड के सिसिरता पंचायत के पंचायत सचिव से अपने ही भाई का मृत्यु प्रमाण पत्र बनवा लिया और उसी के आधार पर अपने भाई की भी हिस्से की जमीन तथा अन्य अचल संपत्तियां बेच डाली.

आरोप है कि विजय सिंह अपने भाई के डर से गांव घर छोड़कर मारे मारे फिरते हैं लेकिन इन दिनों उनका एक रिश्तेदार भगवान सिंह उन्हें हिम्मत बना कर रोहतास के डिहरी स्थित अपने घर पर रखा है. आरोप है कि दबंगो ने यहाँ भी उनके साथ मारपीट की और अपने साथ चलने को कहा. विजय सिंह अपने आप को जिंदा साबित करने के लिए इन दिनों भटक रहे हैं. उन्होंने रोहतास के एसपी आशीष भारती को भी इस संबंध में सूचना दी है तथा मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने वाले पर कार्रवाई की मांग की है.

पीड़ित ने SP से लगाई गुहार
अब ऐसे में पीड़ित विजय सिंह रोहतास पुलिस के पास पूरे मामले को ले गये हैं तथा एसपी आशीष भारती से न्याय की गुहार लगाई हैं. चुकी एसपी ऑफिस में पीड़ित के आवेदन पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है तथा मामले की जांच शुरु हो गई है, ऐसे में देखना है कि पीड़ित को न्याय कब तक मिल पाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज