लाइव टीवी

6 साल की बच्ची के साथ रिश्तेदार ही कर रहा था दरिंदगी, चीख सुन कर लोगों ने बचाया

News18 Bihar
Updated: November 21, 2019, 8:28 AM IST
6 साल की बच्ची के साथ रिश्तेदार ही कर रहा था दरिंदगी, चीख सुन कर लोगों ने बचाया
6 साल की बच्ची से रेप की कोशिश कर रहा था युवक. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

एएसपी संजय कुमार का कहना है कि आरोपी की पहचान कर ली गई है और जल्दी ही उसकी गिरफ्तारी होगी.

  • Share this:
सासाराम. एक से एक कठोर कानून (Act) बनाए जा रहे हैं फिर भी बच्चियां दरिंदगी का शिकार होते चली जा रही हैं. ताजा मामला रोहतास जिला के तिलौथू का है. यहां वार्ड नंबर 9 में एक तिलक समारोह से 6 वर्षीय बच्ची को बहला-फुसलाकर उसका रिश्तेदार ही दुष्कर्म (Rape) का प्रयास कर रहा था, लेकिन बच्ची की चीख सुन लोगों ने उसे बचा लिया.


भोज खाने गई थी बच्ची

बताया जा रहा है कि पड़ोस में एक तिलक समारोह में बच्ची भोज खाने गई थी. उसी दौरान 19 साल का एक युवक जो उसका रिश्तेदार भी है, उसकी नजर उस बच्ची पर पड़ गई. वह बच्ची को बहला-फुसलाकर उसे तिलौथू के सोन नदी के किनारे झारी के पास ले गया और उसके साथ गंदी हरकतें करने लगा. भोज खाकर लौटने के क्रम में कुछ लोगों ने जब झाड़ियों से रोने- चीखने की आवाज सुनीं तो बच्ची को बचाया गया. हालांकि आरोपी लोगों के आंख में धूल झोंक मौके से भाग निकला.



मां ने आरोपी को पहचाना

आरोपी उसी गांव का धर्मेंद्र सेठ का पुत्र सन्नी सेठ है. इस मनचले युवक पर पहले भी छेड़छाड़ के आरोप लग चुके हैं. परिजनों ने बच्ची के साथ हुई इस घटना की जानकारी पुलिस को दी. तिलौथू थाना प्रभारी ने पीड़ित लड़की को मेडिकल के लिए सासाराम के सदर अस्पताल भेजा जहां उसकी जांच की गई. अब रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है. उसके बाद पुलिस कार्रवाई करेगी.

 क्या कहती है पुलिस?

मामले को लेकर एएसपी संजय कुमार का कहना है कि आरोपी की पहचान कर ली गई है और जल्दी ही उसकी गिरफ्तारी होगी. पुलिस ने पीड़ित बच्ची का स्वास्थ्य जांच कराया है. जांच रिपोर्ट के अनुसार अनुसंधान को आगे बढ़ाया जाएगा तथा किसी हाल में आरोपी बख्शा नहीं जाएगा.


रिपोर्ट- अजीत कुमार


ये भी पढ़ें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रोहतास से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 21, 2019, 8:19 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर